बच्चे हर दिन 15 मिनट ज्ञानवर्धक पुस्तक जरूर पढ़ें: राज्यपाल आनंदीबेन

Children-read-15-minutes-knowledge-books-every-day--Governor-Anandiben

ग्वालियर। प्रदेश की राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने बच्चों से आह्वान किया है कि वे  पाठ्यक्रम में शामिल पुस्तकों के साथ-साथ हर दिन कम से कम 15 मिनट किसी ज्ञानवर्धक पुस्तक को एकाग्रता के साथ पढ़ें। जिससे कुछ समय बाद आप सब अपने में सुखद परिवर्तन महसूस करोगे।  राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल शनिवार को ग्वालियर प्रवास के दौरान जिले के शासकीय प्राथमिक एवं माध्यमिक विद्यालय अडूपुरा के बच्चों से संवाद कर रही थीं। राज्यपाल के  इस आह्वान को बच्चों ने सहर्ष स्वीकार कर दोनों हाथ उठाकर संकल्प किया कि वे अब हर दिन अपनी रूचि के अनुसार 15 मिनट पुस्तक का अध्ययन जरूर करेंगे।

 श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने इस दौरान यहाँ के आदर्श आंगनबाड़ी केन्द्र व प्राथमिक व माध्यमिक विद्यालय के बच्चों को फल और टॉफियां वितरित कीं। साथ ही बच्चों से संवाद कर उनकी पढ़ाई-लिखाई के बारे में जानकारी ली। 

राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने बच्चों के अभिभावकों से भी कहा कि वे इस बात का ध्यान रखें कि उनके बच्चे नियमित रूप से पढ़ने जाएं। बच्चों का होमवर्क भी पूरा कराएं। श्रीमती आनंदीबेन ने कहा कि गाँव के स्कूलों में भी अच्छी पढ़ाई की जा सकती है। अनेक महान विभूतियों ने गाँव के स्कूलों में पढ़कर देश का नाम दुनिया भर में रोशन किया। उन्होंने कहा समाज की भी जिम्मेदारी है कि कोई भी बच्चा शिक्षा से वंचित न रहे, जिससे समृद्ध समर्थ एवं वैभवशाली भारत का निर्माण हो। 

अडूपुरा भ्रमण के दौरान राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन ने डिजिटल क्लासरूम और कम्प्यूटर कक्षा का अवलोकन भी किया। डिजिटल क्लासरूम की स्थापना मुस्कान फाउण्डेशन और कम्प्यूटर क्लास की स्थापना आईटीएम यूनिवर्सिटी के सहयोग से किया गया है। इसी तरह सामाजिक संस्थाओं के सहयोग से अडूपुरा स्कूल परिसर में बच्चों के लिये फिसलपट्टी व झूले लगाए गए हैं। राज्यपाल ने आदर्श आंगनबाड़ी केन्द्र व शासकीय स्कूल की व्यवस्थाओं को सराहा। उन्होंने कहा खुशी की बात है कि अडूपुरा के स्कूल से पिछले शिक्षण सत्र में आठवीं पास करने वाली सभी बालिकाओं व बालकों ने नौवीं कक्षा में प्रवेश ले लिया है। साथ ही स्कूल की बुनियादी सुविधाएं भी बेहतर हैं। 

मालूम हो गत फरवरी माह में राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल अडूपुरा के आंगनबाड़ी केन्द्र व स्कूल का निरीक्षण करने पहुँची थीं। इस दौरान उन्होंने गाँववासियों से आठवीं कक्षा पास करने वाली बच्चियों को 9वीं में दाखिला दिलाने का आग्रह किया था। इसके सुखद परिणाम सामने आए और गाँव की सभी बच्चियों ने आगे की पढ़ाई जारी रखी है। 

शनिवार को राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल द्वारा किए गए निरीक्षण के दौरान अपर आयुक्त आबकारी शिवराज वर्मा, अपर कलेक्टर संदीप केरकेट्टा, संयुक्त संचालक महिला बाल विकास श्रीमती सीमा शर्मा, डिप्टी कलेक्टर प्रदीप कुमार शर्मा, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला बाल विकास राजीव सिंह व जिला परियोजना समन्वयक जिला शिक्षा केन्द्र विजय दीक्षित सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद थे।