सीएम शिवराज सिंह ने “ग्वालियर गौरव दिवस” पर की ये अपील, तैयारियों की समीक्षा की

Gwalior Gaurav Divas : ग्वालियर के सपूत भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) के जन्म दिन 25 दिसंबर को “ग्वालियर गौरव दिवस” (Gwalior Pride Day) मनाये जाने पर छाया कुहासा छंटने के बाद जिला प्रशासन इसकी तैयारियों में तेजी से जुट गया है, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये तैयारियों की समीक्षा की, उन्होंने ग्वालियरवासियों से 25 दिसंबर को अपने घरों पर दीपक जलाने और रोशनी करने की अपील की है।

25 दिसंबर को मनेगा ग्वालियर गौरव दिवस

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म दिन 25 दिसंबर को पूरे देश में सुशासन दिवस के रूप में मनाया जाता है, पिछले दिनों तय हुआ कि इसी दिन “ग्वालियर गौरव दिवस” मनाया जायेगा, ग्वालियर जिला प्रशासन (Gwalior District Administration० ने इसकी तैयारी शुरू की लेकिन अचानक महाराज बाड़े पर आयोजित होने वाला कार्यक्रम स्थगित करने की सूचना शहर में तेजी से फैली जिसका विरोध शुरू हुआ।

पवैया की नाराजगी के बाद अटकलों पर लगा विराम

शुक्रवार को दिन में पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया (Jai Bhan Singh Pawaiya) ने नाराजगी भरी और चेतावनी देती हुई पोस्ट सोशल मीडिया पर की इसके बाद खलबली मच गई और आनन फानन में कलेक्टर ने शाम को प्रेस कांफ्रेस कर इस बात की घोषणा की कि अटल जी के जन्मदिन पर 25 दिसंबर को “ग्वालियर गौरव दिवस”(Gwalior Gaurav Divas) मनाया जायेगा वो भी महाराज बाड़े पर ही मनाया जायेगा। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने सफाई देते हुए कहा कि हमने कार्यक्रम निरस्त नहीं किया था सर्दी को देखते हुए उसका स्थान परिवर्तन किया था, लेकिन अब फीडबैक मिला है कि सर्दी इतनी नहीं है तो कार्यक्रम महाराज बाड़े पर ही होगा।

सीएम शिवराज के निर्देश – अभूतपूर्व होना चाहिए “ग्वालियर गौरव दिवस”

25 दिसंबर को ही ग्वालियर गौरव दिवस मनाये जाने का फैसला होने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार रात अपने निवास से वीडियो कांफ्रेस के जरिये अचानक ग्वालियर जिला प्रशासन के अधिकारियों से बात की उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देश दिए कि सागर, इन्दौर, देवास, दतिया आदि शहरों में गौरव दिवस कार्यक्रम बेहतर तरीके से आयोजित हुए हैं। इसी तरह ग्वालियर का गौरव दिवस भी अभूतपूर्व तरीके से और पूरी तैयारियों के साथ भव्य और बेहतर ढंग से आयोजित हो।

महाराज बाड़े पर अधिक से अधिक संख्या में पहुँचने की अपील

मुख्यमंत्री ने कहा है कि प्रदेश में विभिन्न शहरों के गौरव दिवस मनाए जाने का कार्यक्रम अभूतपूर्व ढंग से हो रहा है। ग्वालियर पीछे नहीं रहना चाहिए। शिवराज ने कहा कि पूरे ग्वालियर के लोग कार्यक्रम स्थल महाराज बाड़ा पर अधिक से अधिक संख्या में एकत्रित हों। अटल जी हम सबके श्रद्धेय हैं, इसलिए ग्वालियर गौरव दिवस पर अटल जी को श्रद्धांजलि देने के लिए बड़ी संख्या में लोग कार्यक्रम में आएं। अलग-अलग वर्गों, संगठनों और व्यवसायों के लोग कार्यक्रम में ज्यादा से ज्यादा संख्या में उपस्थित रहें।

बैठक में ये अधिकारी रहे मौजूद

समीक्षा बैठक के दौरान ग्वालियर कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, ग्वालियर रेंज के आईजी (ADGP) डी श्री निवास वर्मा, एसपी अमित सांघी, नगर निगम कमिश्नर किशोर कन्याल, भाजपा जिला ग्वालियर अध्यक्ष अभय चौधरी, ग्रामीण जिला अध्यक्ष कौशल शर्मा मौजूद थे, मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए की समय से पहले सभी तैयारियां पूरी कर ली जाएँ इस बात का विशेष ध्यान रखा जाये।

सीएम शिवराज सिंह ने "ग्वालियर गौरव दिवस" पर की ये अपील, तैयारियों की समीक्षा की

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की अपील

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपील की है कि पूर्व प्रधानमंत्री एवं ग्वालियर के लाड़ले सपूत भारत रत्न श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी जी के जन्मदिन 25 दिसंबर को ग्वालियरवासी अपने घरों पर रोशनी करें और दीपक जलाएँ। वो सिर्फ ग्वालियर के ही नहीं पूरे देश के लाड़ले और आदर्श नेता हैं, हमें उनका जन्म दिन गौरव दिवस के रूप में गौरव का अनुभव करते हुए मनाना है।

ग्वालियर से अतुल सक्सेना की रिपोर्ट