CMHO और सिविल सर्जन पर गिरी गाज, दोनों को पद से हटाया, सिंधिया पर पहुंची थी शिकायत!

ग्वालियर। शहर की बिगड़ती स्वास्थ्य सेवाओं के लिए अफसरों से लेकर मंत्री तक की फटकार झेल चुके। CMHO और सिविल सर्जन को आखिरकार सरकार ने उनके पद से हटा दिया है। सरकार ने दोनों अधिकारियों की पद स्थापना जिला अस्पताल में की है। बताया ये जा रहा है कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सिंधिया से इन अधिकारियों की शिकायत की थी जिसे बाद सरकार ने ये एक्शन लिया है।

दरअसल मई 2019 में जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मृदुल सक्सेना को राज्य शासन ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी नियुक्त किया था। उनकी नियुक्ति भी चर्चा का विषय थी क्योंकि उनकी नियुक्ति उस समय हुई थी जब CMHO की कुर्सी पर बैठे डॉ. एस एस जादौन के रिटायरमेंट को केवल आठ दिन शेष बचे थे। लेकिन डॉ सक्सेना के पद संभालने के बाद से शहर की स्वास्थ्य सेवाओं में कोई सुधार नहीं हुआ बल्कि डेंगू, मलेरिया जैसी संक्रामक बीमारियों पर नियंत्रण नहीं हो सका। इसके लिए कई बार पूर्व संभाग आयुक्त बीएम शर्मा और कलेक्टर अनुराग चौधरी सहित एडीएम और एसडीएम स्तर के अधिकारियों ने उन्हें फटकार लगाई। उधर जिला। अस्पताल की बिगड़ी स्वास्थ्य सेवाओं के लिए भी CMHO डॉ मृदुल सक्सेना और डॉ वीके गुप्ता को कई बार अफसरों की फटकार का सामना करना पड़ा। कुछ महीने पूर्व कलेक्टर अनुराग चौधरी ने दोनों अधिकारियों का एक महीने का वेतन भी काटने के निर्देश दिये थे। उधर ये भी बताया जाता है कि मुरार क्षेत्र के कांग्रेस नेताओं ने जिला अस्पताल की बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं की शिकायत पिछले दिनों स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट से की थी। लेकिन इस पर कोई एक्शन नहीं लिया गया तो कांग्रेस नेता सिंधिया के पास पहुंचे और उनसे दोनों अधिकारियों को हटाने का निवेदन किया । शुक्रवार को राज्य शासन ने एक आदेश जारी कर स्वास्थ्य विभाग के कई वरिष्ठ अधिकारियों के तबादले कर दिये जिनमें CMHO डॉ मृदुल सक्सेना और सिविल सर्जन डॉ वीके गुप्ता के नाम भी शामिल हैं। दोनों अधिकारियों की नई पद स्थापना जिला अस्पताल में की गई है। जबकि जिला अस्पताल में पदस्थ पैथोलॉजिस्ट। डॉ सुरेंद्र कुमार वर्मा को नया CMHO बनाया है और यहीं पदस्थ मेडिकल ऑफिसर। डॉ देवेंद्र कुमार शर्मा को सिविल सर्जन बनाया है। इस ट्रांसफर के बाद से शहर में चर्चा बनी हुई है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया से शिकायत के बाद दोनों को फौरन हटाया गया है।