मोबाइल ले जा रही गाड़ी पर वाणिज्यिक कर विभाग ने ठोका 2.71 करोड़ का जुर्माना

-Commercial-tax-department-fines-up-to-Rs-2-71-crores-on-mobile-carrying-vehicle

ग्वालियर। ई-वे बिल की व्यवस्था लागू होने के बावजूद व्यापारी कर चोरी करने से नहीं चूक रहे । ऐसा ही एक मामला ग्वालियर में सामने आया जिसमें वाणिज्यिक कर विभाग ने एक वाहन पर अब तक का सबसे बड़ा जुर्माना 2.71 करोड़ रुपए जुर्माना ठोंक दिया।

दरअसल गत दिवस ग्वालियर में वाणिज्यिक कर विभाग ने ग्वालियर-झाँसी बायपास पर वाहनों की चैकिंग के दौरान वाहन क्रमांक DL 01 GC 1298 को रोक कर उसकी जांच की। जांच के दौरान चालक ने जो दस्तावेज दिखाए उसमें बिल्टी,बिल एवं ई-वे बिल क8 जब जांच की गई तो उसमें बहुत गड़बड़ी मिली। गाड़ी में मोबाइल फोन भरे थे जो हैदराबाद से जा रहे थे और इसे अमेजन होलसेल इण्डिया प्राइवेट लिमिटेड के माध्यम से ओप्पो मोबाइल इण्डिया प्राइवेट लिमिटेड गुडगाँव भेजा जा रहा है। माल की कुल कीमत 12.67 करोड़ रुपए थी। दस्तावेजों की जांच में पाया गया कि कुल 11 बिलों के माल का परिवहन किया जा रहा था जिसमें केवल दो बिलों के लिए ही ई-वे बिल बनाये गए थे। जब विभाग ने इस मामले में कम्पनी से स्पष्टीकरण मांगा तो वे उसके उत्तर से संतुष्ट नहीं हुए और उसे अमान्य करते हुए 2.71 करोड़ रुपए का जुर्माना(चालान) ठोंक दिया। पूरी कार्रवाई राज्यकर संयुक्त आयुक्त वाणिज्यिक कर एईबी एसके श्रीवास्तव के नेतृत्व में की गई। टीम में राज्यकर अधिकारी बीएन चतुर्वेदी एवं राज्यकर निरीक्षक अवनीश मिश्रा शामिल थे।