“कांग्रेस MLA बोल रहा हूँ, कार्यकर्ता का बंदूक का लाइसेंस बनाने में HELP करें”

ग्वालियर।अतुल सक्सेना।

पुलिस ने एक ऐसे युवक को गिरफ्तार किया है जो टी आई को फोन कर बोल रहा था कि “मैं विधायक पाठक बोल रहा हूँ, एक कार्यकर्ता का बंदूक का लाइसेंस बनना है आप उसकी मदद कीजिये” । टी आई को संदेह हुआ तो उन्होंने विधायक को फोन लगाया और फर्जीवाड़े का खुलासा हो गया और फिर टी आई ने युवक को बहाने से थाने बुलाया और गिरफ्तार कर लिया।

महाराजपुरा थाने के टी आई आसिफ मिर्जा बेग के मुताबिक 8 जनवरी को एक फोन आया। फोन करने वाले ने खुद को ग्वालियर दक्षिण विधानसभा का कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक बताया और कहा कि उनके कार्यकर्ता सत्यभान गुर्जर का बंदूक का लाइसेंस बनना है वो आपके पास आया है वे स्वीकृत कर दीजिये। टी आई को लगा विधायक का ही फोन है उन्होंने एक दो दिन में आवेदन पर हस्ताक्षर करने की बात कही। अगले दिन फिर से उसी नंबर से फोन आया तो टी आई को शक हुआ तो उन्होंने विधायक पाठक को खुद फोन लगाकर बात की तो विधायक ने किसी भी तरह के फोन से इंकार कर दिया। इसके बाद टी आई ने आवेदन को निरस्त कर एसपी ऑफिस भेज दिया। टीआई ने फिर फोन करने वाले फर्जी विधायक से कहा कि कार्यकर्ता को भेज दो उसके सामने ही हस्ताक्षर कर देंगे। थोड़ी देर बाद एक युवक थाने पहुंचा उसने अपना परिचय सत्यभान गुर्जर के रूप में दिया और कहा कि विधायक जी ने भेजा है। टी आई ने उसके सामने जैसे ही विधायक पाठक को फोन लगाया सत्यभान घबरा गया। फर्जीवाड़ा सामने आते ही वो यहाँ वहाँ देखने लगा। पुलिस नेउसे गिरफ्तार कर लिया। सत्य भान ने बताया कि वो वो ठेकेदार है और कांग्रेस कार्यकर्ता है। पुलिस उससे पूछ ताछ कर रही है।

"कांग्रेस MLA बोल रहा हूँ, कार्यकर्ता का बंदूक का लाइसेंस बनाने में HELP करें"