किसान आंदोलन के समर्थन में कांग्रेस का धरना, चक्काजाम, 20 को होगी महापंचायत

शहर जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष डाॅ देवेन्द्र शर्मा ने कहा कि हिंदूस्तान का किसान भाजपा (BJP) की केन्द्र और प्रदेश सरकार की जनविरोधी नीतियों के कारण परेशान है। जिस प्रकार भाजपा ने किसानों और राजनैतिक दलों से चर्चा किए बिना घमंड और अहंकार के वषीभूत होकर किसान विरोधी कानून बनाया गया वह पूरी तरह अंग्रेजी हुकुमत और कानून की याद दिलाता है

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग पर अड़े किसानों का समर्थन कर रही कांग्रेस (Congress) ने आज पूरे प्रदेश में ब्लॉक से लेकर जिला स्तर तक धरना प्रदर्शन किया। इसी क्रम में ग्वालियर (Gwalior) में भी कांग्रेस ने धरना दिया। शहर जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष डाॅ देवेन्द्र शर्मा ने धरने को संबोधित करते हुए कहा कि हिंदूस्तान का किसान भाजपा (BJP) की केन्द्र और प्रदेश सरकार की जनविरोधी नीतियों के कारण परेशान है। किसान भारत का हृदय है और जब हृदय पर कुठाराघात होता है तो देश परेशान होता है, जिस प्रकार भाजपा ने किसानों और राजनैतिक दलों से चर्चा किए बिना घमंड और अहंकार के वषीभूत होकर किसान विरोधी कानून बनाया गया वह पूरी तरह अंग्रेजी हुकुमत और कानून की याद दिलाता है अंग्रेजों ने जब भारत पर कब्जा किया तो उन्होंने किसानों की जमीन और खेती पर अपना आधिपत्य कायम किया उसी प्रकार भाजपा अंबानी, अडानी को भारत का दिल किसानों की जमीन छीनकर देना चाहती है। लेकिन कांग्रेस ने हमेशा किसानों के। लिए संघर्ष किया है और करती रहेगी। खास बात ये है कि कांग्रेस ने धरना स्थल के पास ही चक्का जाम किया और धरने की समय अवधि में जनता ने दुपहिया, चार पहिया वाहन नहीं निकाले।

20 को चंबल कि धरती पर होगी महा पंचायत
धरने में शामिल विधायक एवं पूर्व मंत्री लाखन सिंह ने कहा कि किसान आज सर्दी में बैठा है लेकिन मोदी सरकार या भाजपा के किसी नेता को उसका दर्द दिखाई नहीं दे रहा मगर कांग्रेस शुरू से उनके साथ है और आखिर तक रहेगी। पूर्व मंत्री ने कहा कि 20 जनवरी को चंबल की धरती पर किसानों के समर्थन में किसानों की महापंचायत होगी यदि सरकार फिर भी नहीं झुकती तो फिर सभी लोग दिल्ली के लिए कूच करेंगे। लेकिन जब तक काला कानून वापस नहीं हो जाता संघर्ष जारी रहेगा।