कांग्रेस का सिंधिया के बहाने कलेक्टर पर निशाना, कहा आप “काबिल-ए-भारत रत्न हैं”  

कार्रवाई के बाद शहर जिला कांग्रेस एकजुट हो गई और इस कार्रवाई को गैर कानूनी, बदले की भावना से और सिंधिया के इशारे पर की गई बताते हुए शुक्रवार को पूरे शहर में भाजपा के राज्यसभा सदस्य ज्याेतिरादित्य सिंधिया के पुतले जलाए।

पूर्व विधायक

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष (State Vice President of the Congress) एवं एपेक्स बैंक के पूर्व चेयर मैन अशाेक सिंह (Ashok singh) के मालिकाना हक वाले बालाजी मैरिज गार्डन (Balaji Marriage Garden)  पर की गई प्रशासन की अतिक्रमण विरोधी कार्रवाई (Anti encroachment action) के बाद से कांग्रेस  ( Congress) आक्रामक है। कांग्रेस ने इस कार्रवाई को सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (JyotiradityaScindia)के इशारे पर की गई कार्रवाई बताते हुए शहर में सिंधिया के पुतले जलाये और धरना दिया। अब कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता केके मिश्रा (KK Mishra)ने ट्वीट कर ग्वालियर कलेक्टर पर निशाना साधा है। उन्हाेंने लिखा है कि कलेक्टर ग्वालियर अतिक्रमण विराेधी मुहिम काे लेकर आप काबिल-ए-भारत रत्न हैं।

दरअसल मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश मिलने के बाद ग्वालियर जिला प्रशासन ने एंटी माफिया अभियान शुरू किया जिसका पहला निशाना बने कांग्रेस नेता अशाेक सिंह । प्रशासन ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता के बालाजी मैरिज गार्डन पर बुलडोजर चला दिया। कार्रवाई के बाद शहर जिला कांग्रेस एकजुट हो गई और इस कार्रवाई को गैर कानूनी, बदले की भावना से और सिंधिया के इशारे पर की गई बताते हुए शुक्रवार को पूरे शहर में भाजपा के राज्यसभा सदस्य ज्याेतिरादित्य सिंधिया के पुतले जलाए। हालांकि इसके बाद भी प्रशासन की कार्रवाई जारी रही,  मैरिज गार्डन का सीमांकन कर 5400 वर्ग फुट सरकारी जमीन पर बने दो मंजिला भवन को गिरा दिया। इसके बाद भी कांग्रेस ने शनिवार काे फिर फूलबाग मैदान पर धरना देकर अपना विराेध दर्ज कराया था।

अब कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता एवं उस चुनाव के दौरान ग्वालियर चंबल संभाग के मीडिया प्रभारी रहे केके मिश्रा ने ट्वीट कर सिंधिया के बहाने ग्वालियर कलेक्टर पर निशाना साधा है। केके मिश्रा ने ट्वीट में लिखा है कि “कलेक्टर ग्वालियर, अतिक्रमण विराेधी मुहिम काे लेकर आप काबिल-ए-भारत रत्न हैं। इन दिनाें ग्वालियर के ही वीसीएचएस स्कूल के खेल मैदान में बीपीएल कार्डधारी जनसेवक ज्याेतिरादित्य सिंधिया ने कब्जा कर उसे विवाह परिसर से जाेड़ दिया है, स्कूल का पिछला द्वार बंद हाे गया है, यदि दम हाे ताे इसे भी देख लेना।”

कांग्रेस के विरोध और मिश्रा के ट्वीट के बाद ये समझा जा सकता है कि प्रदेश उपाध्यक्ष के मैरिज गार्डन पर हुई प्रशासनिक कार्रवाई के बाद कांग्रेस गुस्से में है और इस मुद्दे को आगे तक ले जाना चाहती है।