धनिए से भरे ट्रक को जुर्माना लेकर छोड़ा, पुलिस ने जांचा तो मिली 40 लाख की अवैध शराब

ग्वालियर। अवैध कारोबारियों के खिलाफ सख्ती से निपटने के सरकार के आदेश के बाद भी विभागीय अधिकारी इसमें लापरवाही कर रहे हैं। ऐसा ही मामला ग्वालियर में सामने आया जब राज्य कर विभाग ने धनिए से भरा एक ट्रक पकड़ा और बिना पूरी जांच किये उसे उसपर जुर्माना लगाकर छोड़ दिया। लेकिन जब पुलिस की नजर ट्रक पर पड़ी तो उसमें करीब 40 लाख रुपए की अवैध अंग्रेजी शराब मिली जिसे धनिए की बोरियों के नीचे बड़ी सफाई से छिपाकर रखा गया था। 

जानकारी के अनुसार राज्य कर विभाग के असिस्टेंट कमिश्नर राजेश कुमार धाकड़ की मौजूदगी में उनकी टीम ने चेकिंग के दौरान बेला की बावड़ी  क्षेत्र में गुरुवार की रात एक बजे ट्रक क्रमांक MP 09 GG 6600 को रोका । ट्रक में धनिया भरा था। टीम ने जब दस्तावेज चेक किये तो चालक के पास धनिए से जुड़े कोई दस्तावेज नहीं थे। टीम ने ट्रक को झाँसी रोड थाने में रखवा दिया। और ट्रक पर बिना दस्तावेज के माल परिवहन की धाराओं के तहत 1.57 लाख रुपए का जुर्माना लगा दिया। शुक्रवार को ट्रक चालक ने जुर्माने की रकम ऑन लाइन जमा कर दी और राज्य कर विभाग से। ट्रक को रिलीज करने का आर्डर ले आया। 

बीती रात जब ट्रक चालक झाँसी रोड थाने पहुंचा और ट्रक छुड़ाकर ले जाने लगा तो थाने के स्टाफ को संदेह हुआ। पुलिस ने तिरपाल हटाकर जब ट्रक की चेकिंग की तो उसमें धनिए की बोरियों के नीचे अंग्रेजी शराब की पेटियां रखी मिली। पुलिया ने जब पेटियां उतारना शुरू की तो थाना परिसर शराब की पतियों से भर गया पुलिस को ट्रक में 350 शराब की पेटियां मिली। पुलिस आबकारी अधिकारियों को मौके पर बुलाया और ट्रक चालक राजेश शर्मा निवासी उज्जैन और क्लीनर शिवा यादव को पकड़ लिया। चालक के मुताबिक वह उज्जैन से ट्रक लाया है उसे दाल  बाजार में इसे दूसरे चालक को सौंपना था। अब पुलिस इस बात की जाँच कर रही है कि पकड़ी गई करीब 40 लाख की ये शराब कहाँ से आ रही थी और कहाँ जा रही थी और इसमें दाल बाजार के व्यापारी का क्या रोल है। पूरे मामले में राज्य कर विभाग के असिस्टेंट कमिश्नर का कहना है कि ट्रक में 80 बोरी धनिया था जो बिना दस्तावेज परिवहन किया जा रहा था। हमने 1.57 लाख का जुर्माना लगाकर ट्रक को थाने भिजवा दिया हो सकता ही धनिए की बोरियों के नीचे शराब रखी हो। हमने दूर। से आधे ट्रक की ही जांच की थी। उधर सीएसपी झाँसी रोड निवेदिता नायडू का कहना है तस्करी के लिए ले जाई जा रही अवैध अंग्रेजी शराब राज्य कर विभाग के अधिकारियों की नजर से बच गई लेकिन हमारे स्टाफ की नजरों से नहीं बच पाई। ट्रक छुड़वाने आये ट्रक चालक की जल्दबाजी देखकर उसपर शक हुआ और इतनी बड़ी मात्रा में अवैध शराब पकड़ी गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here