साइबर ठग ने इंजीनियर के खाते से निकाला लोन, झांसा देकर लाखों की रकम ट्रांसफर की

खास बात ये है कि इंजीनियर पलक के खाते से उसकी सहमति और डॉक्युमेंट्स के बिना लोन भी पास हो गया। इसे लेकर एक्सिस बैंक की भूमिका भी सवालों के घेरे में हैं।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। पुलिस द्वारा समझाइश देने के बाद भी लोग साइबर ठग (Cyber ​​thug) के झांसे में आ जाते हैं और अपनी मेहनत की कमाई चंद सेकंड में गंवा देते हैं। ग्वालियर पुलिस के पास एक बार फिर एक इंजीनियर के साथ ठगी का मामला सामने आया है। शिकायत के आधार पर पुलिस (Gwalior Police) ने मामला दर्ज कर आरोपियों के खिलाफ टेक्नीकल एविडेंस जुटाने शुरू कर दिए हैं।

जानकारी के अनुसार थाटीपुर क्षेत्र में रहने वाले सुरेंद्र माथुर की बेटी पलक बेंगलौर में एक कंपनी में काम करती है वो इंजीनियर है। कोरोना के कारण वो लम्बे समय से वर्क फ्रॉम होम कर रही है। किसी शातिर साइबर ठग ने उसके साथ धोखाधड़ी कर 8 लाख रुपये उसके खाते से निकाल लिए। पलक का एक्सिस बैंक में खाता है जिसमें करीब 1 लाख20 हजार रुपये लाख रुपये जमा था।

ये भी पढ़ें – भोपाल : सांची के दूध के पैकेट में निकली मक्खी, उपभोक्ता हुए हैरान

एडिशनल एसपी क्राइम राजेश दंडोतिया ने बताया कि एक शिकायती आवेदन आया है जिसके आधार पर एफआईआर रजिस्टर्ड कर ली गई है। आवेदिका ने बताया कि पिछले दिनों उसके पास एक फोन आया कि आपका बैंक एकाउंट वैरिफाई किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें – जॉनसन एंड जॉनसन 2023 में वैश्विक स्तर पर नहीं करेगा अपने बेबी पाउडर की बिक्री

फोन एक्सिस बैंक के नाम से आया था तो उसने फोन पर मौजूद व्यक्ति के निर्देश के आधार पर एक एप डाउन लोड किया, एप डाउनलोड करते ही एक ओटीपी आया जिसे फोन करने वाले को बताते ही उसके बैंक एकाउंट की पूरी रकम निकल गई। जब उसने बैंक से बात की तो पता चला कि ईमेल हैक हो गया है।

ये भी पढ़ें – BJP में नई नियुक्ति, इन दो नेताओं को केंद्रीय नेतृत्व ने दी बड़ी जिम्मेदारी

बैंक से डिटेल निकालने पर पता चला कि उसके खाते से 7 लाख रुपये का लोन भी निकाला गया है उसके ईएमआई भी बन गई है। बैंक डिटेल सामने आने के बाद उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। एडिशनल एसपी का कहना है आवेदिका के साथ 8 लाख 20 हजार रुपये की ठगी की गई है। पुलिस आरोपियों के खिलाफ टेक्नीकल एविडेंस जुटा रही है।

ये भी पढ़ें – IRCTC के साथ बनाइये थाईलैंड घूमने का प्लान , यहां पढ़िए टूर की पूरी डिटेल

गौरतलब है कि साइबर ठग द्वारा पलक माथुर के खाते से जो पैसा निकाला गया है वो गुजरात की बेगम व राठौर के खाते में स्थानांतरित हुआ है। खास बात ये है कि इंजीनियर पलक के खाते से उसकी सहमति और डॉक्युमेंट्स के बिना लोन भी पास हो गया। इसे लेकर एक्सिस बैंक की भूमिका भी सवालों के घेरे में हैं।