डबरा : लोकायुक्त ने सात हजार की रिश्वत लेते सहायक सचिव को रंगे हाथों पकड़ा

पंचायत के निर्माण कार्यों के मस्टर बनाने के एवज में रकम मांगी गई थी।

डबरा,सलिल श्रीवास्तव। ग्वालियर लोकायुक्त की टीम ने एक भ्रष्टाचारी सहायक सचिव को बेनकाब किया है। लोकायुक्त सूत्रों की मानें तो डबरा जनपद के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत पुट्टी के सहायक सचिव को सात हजार की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा है। दावा है कि पंचायत के निर्माण कार्यों के मस्टर बनाने के एवज में रकम मांगी गई थी। लेकिन पैसे न मिलने के कारण सहायक सचिव काम नहीं कर रहा था। जिसके चलते पीड़ित ने लोकायुक्त में शिकायत की। और फिर आवेदन का सत्यापन कराने पर शिकायत सही मिली।

यह भी पढ़े…जब mask न पहनने पर चालानी कार्रवाई से नाराज female ने महिला पुलिस कर्मी को ही धुना

हम आपको बता दें कि डबरा जनपद के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत पुट्टी के सहायक सचिव के पद पर पदस्थ सचिन पांडे द्वारा सरपंच से पंचायत के निर्माण कार्यों के मस्टर बनाने को लेकर ₹10000 रुपए की रिश्वत मांगी जा रही थी जिसकी पहली किस्त के रूप में ₹3000 ले भी लिए गए थे दूसरी और फाइनल किस्त के सात हजार रूपए आज देना तय हुए, जिसकी शिकायत सरपंच के पुत्र जितेंद्र बोहरे ने लोकायुक्त ग्वालियर में 24 दिसम्बर को की थी आज लोकायुक्त टीम डबरा पहुंच गई और सहायक सचिव का इंतजार करने लगी सहायक सचिव सचिन पांडे अपनी रिश्वत के पैसे लेने सरपंच के विवेकानंद कॉलोनी स्थित घर पहुंच गए जहां पहले से टीम उसे रंगे हाथों दबोचने के लिए तैयार बैठी थी। इस पूरी कार्रवाई में निरीक्षक ब्रजमोहन नरबरिया, सुरेंद्र सिंह यादव, भरत सिंह किरार, आरक्षक देवेंद्र पबैया, हेमंत शर्मा, सुरेंद्र सैमिल, नेतराम रजोरिया आदि शामिल रहे।

यह भी पढ़े… जानिए, किस वजह से राज्य निर्वाचन आयोग को निरस्त करने पड़े MP पंचायत चुनाव

ग्वालियर लोकायुक्त निरीक्षक कविंद्र सिंह चौहान ने बताया कि पंचायत के सहायक सचिव सचिन पांडे को सात हजार रुपय की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा है कार्रवाई जारी है।