30 हजार रुपये हेक्टर से पहुँचेगी किसानों के खाते में राहत राशि : तुलसी सिलावट

किसानों की मांग है कि मुआवजा राशि बढ़ाई जाए तो इसके लिए मुख्यमंत्री से चर्चा की जाएगी उसका भी हल निकाला जाएगा

डबरा/सलिल श्रीवास्तव। चीनोर तहसील के भदेश्वर गांव में चार दिन पूर्व आग लगने से लगभग सैकड़ों बीघा जमीन मैं खड़े गेहूँ जलकर खाक हो गए थे। ऐसे में अग्नि पीड़ित किसानों से नेताओं के मिलने का सिलसिला शुरू हो गया है। पहले नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया उसके बाद केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर फिर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ,दिग्विजय सिंह और आज जिले के प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट किसानों के बीच पहुंच गए। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि मुआवजे की राशि कल किसानों के खाते में आ जाएगी, और उन लोगों का भी सर्वे किया जाएगा। जिनके पास अब कुछ नहीं बचा है, उन्हें मुख्यमंत्री की ओर से अनाज चावल और दाल भी उपलब्ध कराई जाएगी।

यह भी पढ़े…रायसेन कलेक्टर एवं SP आफिस के विरूद्ध प्रताड़ना की गंभीर शिकायत- कमिश्नर और IG को नोटिस

आपको बता दें कि चीनोर क्षेत्र के भदेश्वर सिरसुला और दौलतपुर मोजे में 4 दिन पूर्व आग लगी थी तो परसों घरसोंदी क्षेत्र में भी आग ने सैकड़ों बीघा गेहूं की फसल को जलाकर राख कर दिया था। प्रशासन द्वारा नुकसान का आकलन लगाया जा रहा है वही भदेश्वर,सिरसुला और दौलतपुर मौजे का सर्वे पूर्ण हो चुका है प्रशासन ने 245 हेक्टर में नुकसान का आकलन किया है, प्रभारी मंत्री तुलसी सिलावट ने खेतों में किसानों के बीच पहुंचकर कहा कि हमारी सरकार किसानों के साथ हैं, प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह केंद्रीय मंत्री सिंधिया जी नरेंद्र सिंह तोमर जी सभी की सोच है कि किसानों को उनके अनाज के हुए नुकसान का संपूर्ण मुआवजा मिले। हमने 245 हेक्टर में नुकसान का आकलन किया है ₹30000 हेक्टेयर के हिसाब से किसानों को मुआवजा दिया जाएगा जिसकी राशि कल किसानों के खाते में पहुंच जाएगी।

यह भी पढ़े…MP Weather: फिर 3 वेदर सिस्टम एक्टिव, छाए बादल, 22 जिलों में लू का अलर्ट, जानें हफ्ते का हाल

साथ ही एक सर्वे और कराया जाएगा, जिसमें देखा जाएगा कि छोटे किसान जिनके पास अब अनाज भी नहीं बचा है उन्हें मुख्यमंत्री की ओर से 5 कुंटल गेहूं 50 किलो चावल 50 किलो दाल और तेल के डिब्बे दिए जाएंगे वही किसानों की मांग है कि मुआवजा राशि बढ़ाई जाए तो इसके लिए मुख्यमंत्री से चर्चा की जाएगी उसका भी हल निकाला जाएगा वही आगजनी से प्रभावित किसानों को बिजली बिल में राहत देने के लिए भी हम प्रयास करेंगे उन्होंने यह भी कहा कि हमारी सरकार पूरी तरह से किसानों के साथ हैं जो भी संभव मदद होगी उपलब्ध कराई जायेगी।उन्होंने मजदूरों और किसानों से भी अनुरोध किया कि फसल कटने के समय पर बीड़ी आदि का उपयोग ना करें ताकि इस प्रकार की घटनायें ना हो। इस अवसर पर उनके साथ जिला ग्रामीण अध्यक्ष कौशल शर्मा,वरिष्ठ भाजपा नेता मोहन सिंह राठौर,किसान मोर्चा अध्यक्ष ब्रजमोहन गुर्जर सहित जिले के आला प्रशासनिक अधिकारी मौजूद थे।