‘महाराज’ को मप्र से भगाना चाहते थे दिग्विजय-कमलनाथ, इसलिए भाजपा में आये: इमरती देवी

डबरा, सलिल श्रीवास्तव
कांग्रेस (Congress) छोड़ भाजपा (BJP) में शामिल हुई मंत्री इमरती देवी (Imarti Devi) का कहना है कि दिग्विजय सिंह (Digvijay) और कमलनाथ (Kamalnath) ‘महाराज’ को मप्र से भगाना चाहते थे इसलिए भाजपा में आये| इमरती देवी यहीं नहीं रुकी, उन्होंने कहा कांग्रेस सरकार में कमलनाथ ने मंत्रिमंडल में सिंधिया समर्थकों (Scindia Supporters) को पुतला बना कर बिठा रखा था| कोई काम नहीं दिया, लेकिन अब सभी काम होंगे| डबरा के ग्रामीण इलाके में पहुंची इमरती देवी ने लोगों को सम्बोधित करते हुए यह बात कही| जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है|

जिन 22 सिंधिया समर्थक विधायकों के इस्तीफे से कमलनाथ सरकार का खेल बिगड़ा उनमे इमरती देवी भी शामिल थी| वे ज्योतिरादित्य सिंधिया की ख़ास मानी जाती हैं| यही कारण है कि शिवराज सरकार में भी उन्हें मंत्री पद मिला और जो विभाग पहले था अब भी उसी विभाग की मंत्री बनी हैं| मंत्री इमरती अपने बयानों को लेकर अक्सर सुर्ख़ियों में आ जाती है| इस बार उन्होंने कमलनाथ सरकार में सिंधिया समर्थक मंत्रियों की स्थिति का खुलासा किया है|

डबरा के ग्रामीण इलाके में लोगों को सम्बोधित करते हुए इमरती देवी ने कहा पहले जब आये थे तो सड़क की बात कही थी, इस रोड की लड़ाई हमने बहुत लड़ी, लेकिन हम सिंधियाजी के मंत्री थे, इसलिए हमें ऐसा बिठा रखा था जैसे हम सिर्फ पुतला हों, कोई काम नहीं दिया, लेकिन अब जल्द ही रोड मंजूर होगी और जल्द ही रोड बनेगी|

महाराज को मप्र से भगाना चाहते थे दिग्विजय कमलनाथ 
मंत्री ने कहा पहले हम पंजा पर थे अब कमल पर आ गए| लेकिन हम आपके साथ हैं, यह साथ कभी नहीं छोड़ेंगे| सिर्फ चिन्ह बदला है, ‘महाराज’ का कांग्रेस में सम्मान नहीं था, दिग्विजय और कमलनाथ ‘महाराज’ को मध्य प्रदेश से भगाना चाहते थे| इसलिए ‘महाराज’ के सम्मान के लिए बीजेपी में आये हैं|