eid-celebration-in-gwalior-

ग्वालियर । गंगा जमुनी तहजीब के शहर ग्वालियर में ईद उल अजहा यानि बकरीद शांति और सद्भाव और आपसी भाई चारे के साथ मनाई गई। फूलबाग स्थित मोती मस्जिद सहित शहर की सभी प्रमुख मस्जिदों और ईदगाहों में ईद की विशेष नमाज अदा की गई और सभी ने देश प्रदेश की खुशहाली, उन्नति और भाई चारा कायम रहने की दुआ अल्लाह ताला से मांगी। साथ ही जहाँ बारिश नहीं हो रही वहां वर्षा होने की कामना भी की गई।इस मौके पर मुस्लिम समाज के धर्मगुरुओं ने कहा कि यह कुरबानी का पर्व है और इस दिन तक़वा करे और गुनाह बेहयाई और बुरी बातों से तौबा करने का संकल्प ले।

ग्वालियर में सभी पर्व खुशी और साम्प्रदायिक सौहार्द से मनाने की पुरानी परंपरा रही है । ईद उल अजहा के मौके पर ग्वालियर के फूलबाग स्थित प्रमुख मोती मस्जिद पर सुबह से लोगों का पहुंचना शुरू  हो गया था। शहर के बीच में स्थित होने के कारण यहाँ पहुंचने वालों की संख्या हजारों में होती है। यहाँ ईद की विशेष नमाज अदा करने हजारों लोग इकट्ठा हुए । मौलवी मोहम्मद जफर नूरी ने ईद की विशेष नमाज अदा करवाई । मौलवी ने इस अवसर पर कहा कि इस त्यौहार पर कुर्बानी में अल्लाह ताला पर तक़वा जाता है जो हमे कांटों भरे रास्ते में  सच्चाई का रास्ता दिखाता है जिसका मतलब है हम अपने अंदर से गुनाह और बुरी बातों को छोड़कर सदमार्ग अपनाये। इस मौके पर शहर और मुल्क में सुख शांति रहे इसकी दुआ की गई।

दूर दूर से आये लोगों ने ईद की विशेष नमाज में हिस्सा लिया। मोती मस्जिद इंतजामिया कमेटी के सचिव शीराज कुर्रेशी का कहना था कि आपसी भाई चारा औऱ लोगों में प्यार कायम रहे यही दुआ हमने की है एक दूसरे  से गले मिलकर मुबारिकबाद दी है, गिले शिकवे दूर किए हैं, साथ ही ग्वालियर अंचल में अच्छी बारिश हो और मुल्क में जहां ज्यादा वर्षा हो रही है वहां सभी सुरक्षित रहे रहमत बरसे यह भी दुआ हमने मांगी है।