बकाया वसूली करने गए बिजली कर्मचारियों ने की मारपीट, वीडियो वायरल, विधायक धरने पर

कांग्रेस विधायक ने बिजली कंपनी के अधिकारियों की तुलना जनरल डायर से करते हुए दोषियों के खिलाफ हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज करने की मांग की है।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। बिजली कंपनी के अधिकारियों की बकाया वसूली कार्रवाई एक बार फिर सवालों के घेरे हैं। मामला मुरार थाना क्षेत्र का है। बिजली कंपनी के अधिकारी अपने स्टाफ और सुरक्षा गार्डों के साथ एक घर पर बकाया बिल की वसूली करने गए थे लेकिन वहां विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ गया कि मारपीट शुरू हो गई और गोली भी चलाई गई । मारपीट का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है , जिसमें बिजली कम्पनी के सुरक्षा गार्ड,  महिला , पुरुषों और बच्चियों को मारते दिखाई रहे हैं। घटना के विरोध में कांग्रेस ने ऊर्जा मंत्री पर निशाना साधते हुए धरना दिया। कांग्रेस विधायक ने बिजली कंपनी के अधिकारियों की तुलना जनरल डायर से करते हुए दोषियों के खिलाफ हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज करने की मांग की है।

मुरार थाना क्षेत्र के न्यू विजय नगर में रहने वाले सुनील शर्मा भी कांग्रेस के धरने में शामिल हुए।  उन्होंने अपने शरीर पर चोटों के निशान दिखते हुए बताया कि बिजली कंपनी ने लॉक डाउन में एक महीने का 50 हजार का बिल थमाया।  मैंने संशोधन के लिए कहा तो अधिकारियों ने संसोशन से इंकार कर दिया और अभद्रता कर भगा दिया।  मैं छह आवेदन बिजली कंपनी के अधिकारियों को  दे  चुका हूँ संशोधन के लिए। लेकिन कुछ नहीं हुआ।

ये भी पढ़ें – Gwalior News : दिवाली से पहले एक्शन, नासिक भेजा जा रहा 6 क्विंटल से अधिक मावा जब्त

सुनील शर्मा ने बताया कि कल शुक्रवार को बिजली कंपनी के ए ई गौतम कुमार सिंह चार पांच सुरक्षा गार्डों के साथ घर में घुसे, मारपीट करने लगे और मुझे खींचकर बाहर लाने लगे, मैं गावर्धन की परिक्रमा कर लौटा था।  माँ  प्रयास किया तो उनकी चोटी पकड़कर दीवार में मार दी , बहाने बचाने आई तो उनके साथ अभद्रता की। एई गौतम के कहने पर एक गार्ड ने गोली भी चलाई।

ये भी पढ़ें – VIDEO: बड़वानी में हादसा, स्कूल बस पलटने से चालक की मौत, कई बच्चे घायल

घटना के विरोध  में मुरार ब्लॉक कांग्रेस कमेटी ने हुरावली बिजली घर के सामने धरना दिया।  धरने में विधायक डॉ सतीश सिंह सिकरवार भी शामिल हुए। उन्होंने कहा कि बिजली कंपनी के अधिकारी कर्मचारी मारपीट, लूट खसोट कर रहे हैं। बंदूक धारी गार्डों को लेकर लोगों को डरा धमका रहे हैं गोलियां चलवा रहे हैं , इन्होंने तो जनरल  डायर को भी मात कर दिया।

ये भी पढ़ें – Gold Silver Rate : करवाचौथ से पहले सोना पुरानी कीमत पर, चांदी में उछाल, ये हैं ताजा रेट

कांग्रेस विधायक ने कहा कि जो बिजली मंत्री खुद को जनता का सेवक कहते हैं और खुद नसेनी पर चढ़कर बिजली ठीक करते हैं उनके ही विभाग के अधिकारी कर्मचारी ग्वालियर के लोगों के साथ अमानवीय व्यवहार किया जा रहा है , बिजली काटी जा रही है। लोगों पर हमला कर मारपीट कर लोगों की सामाजिक प्रतिष्ठा धूमिल कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस घटना में जो भी दोषी है उसके खिलाफ हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज किया जाए। आपको बता दें कि घटना के बाद दोनों पक्षों की तरफ से पुलिस में आवेदन दिया गया है जिसपर पुलिस ने क्रॉस मुकदमा दर्ज कर लिया है।