निरीक्षण पर निकले ऊर्जा मंत्री, अफसरों को निर्देश- गंदगी और गंदा पानी मिला तो होगी सख्त कार्रवाई

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। मध्यप्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर एक बार फिर जन सेवक की भूमिका में दिखाई दिये। दिवाली के दिन वे सुबह सुबह अपने विधानसभा क्षेत्र में निरीक्षण पर निकल गए। उन्होंने लोगों के दरवाजे पर जा जा कर पूछा कि कोई समस्या तो नहीं हैं। उन्होंने गंदे पानी की समस्या वाले क्षेत्रों में भी लोगों से बात की। निरीक्षण पर साथ मौजूद प्रशासन के अधिकारियों को ऊर्जा मंत्री ने स्पष्ट निर्देश दिये कि मुझे क्षेत्र में ना तो गंदे पानी की शिकायत मिले और ना ही गंदगी और कचरे की, वरना जिम्मेदार अधिकारी के खिलाफ एक्शन लिया जायेगा।

अपने अलग अंदाज के लिए पहचाने जाने वाले प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर शनिवार को दिवाली वाले दिन भी अलग अंदाज में दिखाई दिये। उन्होंने चुनाव प्रचार में हमेशा खुद को जनसेवक कहा और दिवाली वाले दिन सुबह सुबह एक जन सेवक की भूमिका में दिखाई दिया। ऊर्जा मंत्री आज सुबह 3 बजे भोपाल से लौटकर ग्वालियर आये। लेकिन वे स्टेशन से घर नहीं पहुंचे बल्कि अपने क्षेत्र की जनता के बीच पहुँच गए और लोगों के घर का दरवाजा बजा कर उनसे उनकी समस्यायें पूछी। ऊर्जा मंत्री ने लोगों से साफ-सफाई और गंदे पानी की समस्या को लेकर सवाल किए । वे ग्वालियर विधानसभा के घास मंडी, लखेरा गली, तामेश्वर महादेव वाली गली, लधेड़ी, राय कालोनी सहित अन्य कई क्षेत्रों में जाकर डोर टू डोर लोगों की समस्या को सुना और नगर निगम के अधिकारियों को समस्या का समाधान करने के निर्देश दिये। ऊर्जा मंत्री के निरीक्षण की सूचना पर संभागीय आयुक्त एवं नगर निगम प्रशासक आशीष सक्सेना, कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह, नगर निगम आयुक्त संदीप माकिन अन्य अधिकारियों के साथ क्षेत्र में पहुँच गए।

ऊर्जा मंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि क्षेत्र में गन्दे पानी की समस्या और गंदगी नहीं मिलनी चाहिए। प्रद्युम्न सिंह तोमर ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि दीपावली का त्यौहार है.. ऐसे में उन्हें किसी भी घर के आगे कचरे का ढेर नहीं चाहिए… अगर गंदगी पाई जाती है, तो वह उस एरिया के नगर निगम अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई करेंगे। ऊर्जा मंत्री ने शहर के लोगों को दीपावली की बधाई देते हुए कहा कि वे चाहते हैं कि शहर स्वच्छ और प्रदूषणमुक्त रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here