फर्जी दस्तावेजों से नौकरी पाने वाले 8 संविदा शिक्षकों पर एफआईआर, आरटीआई कार्यकर्ता ने की थी शिकायत

Atul Saxena
Published on -
Gwalior News

Gwalior News : ग्वालियर जिले की भितरवार पुलिस ने जाँच के बाद 8 संविदा शिक्षकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया है इसमें एक महिला भी शामिल है, इस मामले में एक आरटीआई कार्यकर्ता ने शिकायत दर्ज कराई जिसकी जाँच पुलिस ने की और शिकायत सही पाए जाने के बाद मामला दर्ज कर लिया।

किसने पुलिस थाने में की थी शिक्षकों की शिकायत ?

दरअसल आरटीआई कार्यकर्ता गौरीशंकर राजपूत ने 27 अक्टूबर 2023 को भितरवार थाने में एक आवेदन दिया था जिसमें भितरवार जनपद में पदस्थ एक महिला सहित आठ संविदा शिक्षकों ने फर्जी दस्तावेजों के आधार पर नौकरी प्राप्त करने की शिकायत की गई थी, शिकायत में कहा गया कि शिक्षकों द्वारा नौकरी पाने के लिए लगाई गई उनकी मार्कशीट और अन्य प्रमाणपत्र फर्जी हैं, इनकी जांच की जाये।

शिकायत की जांच में पुलिस के सामने क्या आया?

शिकायत की जांच के बाद जब पुलिस ने दस्तावेजों की जाँच की तो शुरूआती जांच में सामने आया कि इन शिक्षकों द्वारा लगाये गए दस्तावेजों में कोई भी मुरैना, नरसिंहपुर और ग्वालियर डाईट से जारी नहीं किये गए, प्रथम द्रष्टया मामला संदिग्ध होने के कारण पुलिस ने धर्मेंद्र यादव,  बृजेन्द्र रावत, अनिल पाठक, अरविंद राणा, भगवत शरण शर्मा , सतीश रजक , फूलवती रजक और कृष्णपाल सिंह यादव के खिलाफ धोखाधड़ी, कूट रचित दस्तावेजों का इस्तेमाल का मामला दर्ज कर लिया , पुलिस का कहना है कि आरोपी शिक्षकों की शीघ्र ही गिरफ़्तारी की जाएगी ।

ग्वालियर से अतुल सक्सेना की रिपोर्ट 


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News