fb पर दोस्ती कर विदेशी युवती ने ठगे 6.10 लाख, नाईजीरियन गिरोह का सदस्य गिरफ्तार

ग्वालियर। सोशल साईट पर दोस्ती कर युवक युवतियां को फंसाने और झांसे देने वाले ठग गिरोह बनाकर वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। ग्वालियर में भी एक ऐसा ही मामला सामने आया जिसमें एक महिला ने फेसबुक पर दोस्त बनाकर एक युवक से 6.10 लाख रुपए ठग लिए। युवक को जब ठगे जाने का अहसास हुआ तो वो पुलिस के पास पहुंचा। जिसके बाद क्राइम ब्रांच ने वारदात को अंजाम देने वाले नाईजीरियन गिरोह के एक सदस्य को दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया। 

एडिशनल एसपी क्राइम ब्रांच पंकज पांडे ने जानकारी देते हुए बताया कि कांति नगर में रहने वाले दीपक जैन ने एक शिकायती आवेदन दिया था जिसमें उन्होंने फेसबुक पर विदेशी युवती द्वारा दोस्ती कर  ठगी की शिकायत की थी उन्होंने बताया कि 1 जुलाई को दीपक के फेसबुक एकाउंट पर अनीता मोरगन के नाम से फ्रेंड रिक्वेस्ट आई जिसे उन्होंने एक्सेप्ट कर लिया। और चेटिंग, वॉइस कॉलिंग शुरू हो गई। दीपक के पास 447545113625 नंबर से वॉईस कॉलिंग होने लगी लड़की ने खुद को ब्रिटेन का बताया । शक्ल देखकर दीपक को युवती के सही होने का भरोसा हो गया। एक दिन युवती ने बताया कि वह कुछ कीमती सामान लेकर लंदन से भारत आ रही है। युवती ने बातचीत के दौरान वॉट्सएप नंबर भी मांगा। वह भी दीपक ने उसे भेज दिया था। 8 अगस्त को दीपक के मोबाइल पर कॉल आया। कॉल करने वाले व्यक्ति ने बताया कि वह कस्टम से बोल रहा है। तुम्हारी दोस्त लंदन से आई है, जो कस्टम में फंस गई है। अगर उसे बचाना चाहते हो तो 42 हजार रुपए मेरे द्वारा भेजे गए खाते में जमा करा दो। उसके बाद कॉल आया कि सामान कीमती होने के कारण जुर्माना अधिक लग रहा है। मेरे मेल पर मैसेज भी आए। जिस ई-मेल से मैसेज आ रहे थे वह कस्टम के नाम से मिलता-जुलता था। मैंने दोस्त को बचाने के लिए 6 लाख 10 हजार रुपए उनके अलग-अलग खातों में भेज दिए। उसके बाद मोबाइल स्विच ऑफ हो गया। दीपक की शिकायत के बाद क्राइम ब्रांच ने जानकारियां जुटानी शुरू की और फिर 

चार माह की लंबी विवेचना के बाद ठगों की गैंग ट्रेस कर लिया। इस गिरोह को दिल्ली में रहने वाले नाइजीरियन युवक ऑपरेट कर रहे थे। फेसबुक  एकाउंट, व्हाट्स एप  और खाते नंबरों की मदद से पुलिस गिरोह तक पहुँच गई और उसके एक सदस्य डेविड अंग्वाजी उर्फ जीसुस सोन को दिल्ली से पकड़कर ग्वालियर ले आई । पूछ ताछ में आरोपी जीसुस सोन ने बताया कि अपनी गर्लफ्रेंड चचा स्लिम्ज से कराता था और लोगों को फंसाता था। 

उसके इस काम में उसका साथी उग्वेवर विल्सन भी शामिल  रहता है। पुलिस इन दोनों की तलाश कर रही है। पुलिस के मुताबिक जीसुस सोन के पास से अभी पासपोर्ट नहीं मिला है और न ही ये पता चल सका है कि वो दिल्ली में रहकर क्या काम करता है। पुलिस इसका पता लगा रही है।