दोस्त ही बने कातिल, ग्वालियर में तीन लोगों ने बर्थडे पार्टी में की दोस्त की हत्या

a-Brutal-murder-of-mother-in-front-of-children-in-ujjain-mp

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। बर्थडे पार्टी में चलने का बहाना कर एक इंजीनियरिंग छात्र को घर से ले जाकर उसी के दोस्तों ने उसकी हत्या कर दी। तीन दिन बाद उसका शव पिछोर सिंध नदी में मिला है। पुलिस ने उसके दोस्त को राउंडअप किया तो उसने हत्या कर शव को सिंध नदी के पुल से फेंकना बताया। हत्या का मास्टरमाइंड पुलिस को नदी पर ले गया जहां से उसका शव बरामद किया गया है। वहीं हत्या में एक युवक और एक युवती भी शामिल बताई गई है, जिसकी जांच में पुलिस जुट गई है।

ग्वालियर थाना क्षेत्र के चंद्रनगर में रहने 25 साल के सचिन शाक्य को उसके ही दोस्तों ने मार डाला। सचिन आरईएस के रिटायर्ड एसडीओ छीताराम शाक्य का बेटा था। हाल ही में उसने सिविल इंजीनियरिंग पास की थी और नौकरी की तलाश में था। 12 अक्टूबर की शाम करीब 6 बजे बर्थडे पार्टी में जाने की बात कहकर सागरताल पर रहने वाला उसका दोस्त वीरेन्द्र परिहार घर आकर उसे ले गया था। दोनों सचिन की कार से ही गए थे। इस बथर्ड पार्टी में इंद्रानगर निवासी वीरेन्द्र शर्मा और नेहा शर्मा भी मौजूद थे। ये वारदात नेहा की बर्थडे में हुई। चारों ने सचिन की कार से कैंसर पहाड़ी गए थे। कार में शराब का दौर चला, सचिन आगे की सीट पर बैठा था। उसने नशे के सुरूर में नेहा पर कोई कमेंट किया। इसपर नेहा सहित तीनों दोस्त भड़क गए और उन्होने सचिन का गला दबा कर उसकी हत्या कर दी। फिर लाश को ठिकाने लगाने के लिए नेट पर नदी को सर्च किया। सबसे नजदीक में सिंध नदी मिली तो सचिन की कार में उसके शव को लेकर और नदी में शव फेंककर सिरोल में दोस्त मनीष शर्मा के घर आ गए। सचिन की कार को हुरावली के पास पार्क में छिपा दिया। दोस्त के घर आने लोकेशन मिलने पर पुलिस ने उसे धर दबोचा लिया।

हत्या का खुलासा होने पर आरोपी ने पुलिस को सिंध नदी के पुल पर बीच में ले जाकर बताया कि यहां से सचिन का शव फेंका है। पुलिस ने गोताखोरों की सहायता से शव निकाला। फिलहाल पुलिस ने तीनों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर आरोपी वीरेंद्र परिहार को गिरफ्तार कर लिया है। उनके दो दोस्त नेहा और वीरेन शर्मा की तलाश जारी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here