नाबालिग से गैंगरेप, मामला दर्ज कराने भटक रहा परिवार

Gangrap-to-minor

ग्वालियर।

दुष्कर्म के मामलों में पुलिस की कार्यप्रणाली हमेशा सुर्ख़ियों में रहती है| नरसिंहपुर जिले के बाद अब प्रदेश के ग्वालियर जिले से पुलिस की असंवेदनशीलता सामने आई है। यहां पुलिस ने एक नाबालिग बच्ची के साथ हुई गैंगरेप की घटना को दर्ज ही नहीं किया, बल्कि पीड़िता के परिजनों का आरोप है कि पुलिस आरोपियों के साथ राजीनामा करने का दवाब बना रही है। पीड़िता के परिजनों ने अब परेशान होकर एसपी से मदद की गुहार लगाई है।

बता दे कि ये घटना 24 जून की रात की है, और अभी तक मनमानी पुलिसकर्मी मामला तक नहीं दर्ज किया है। परिजनों ने नीतू राजा परमार, अमित यादव और सागर यादव समेत चार अन्य लोगों पर गैंगरेप लगाए हैं, बताया जा रहा है कि ये सभी आरोपी अवैध खदान संचालन का काम करते हैं, और इन आरोपियों पर थानों में कई संगीन मामले दर्ज है। वहीं पीड़िता के परिजनों ने आरोप लगाए हैं, पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया, बल्कि राजनीनामे का दवाब बनाया जा रहा है| 

परिजनों ने गिजोरा थाना प्रभारी पर आरोप लगाते हुए कहा है कि फरियाद नहीं सुन रहे हैं, बल्कि राजीनामा करने का दबाव बनाया जा रहा है। फिलहाल परिजनों ने एसपी के पास पहुंचकर न्याय की गुहार लगाई है।