Guna Case: एक्शन में सरकार, कलेक्टर-एसपी के बाद IG को भी हटाया

ग्वालियर।अतुल सक्सेना।

गुना जिले(Guna district) में दलित किसान के साथ हुई पुलिसिया बर्बरता ने एक बार फिर पुलिस के अमानवीय होने के प्रमाण दे दिये हैं। हालांकि घटना के वीडियो वायरल होने के बाद सरकार ने गुना कलेक्टर और एसपी  (Guna Collector and SP)को घटना के कुछ घंटे बाद हटा दिया इतना ही नहीं ग्वालियर जोन के आईजी (IG of Gwalior Zone) का भी तबादला कर दिया।

तीन लाख का कर्ज पटाने के लिए सरकारी जमीन पर खेती कर रहे दलित किसान पति पत्नी के साथ पुलिस की बर्बरता और अमानवीयता ने कई सवाल खड़े कर दिये हैं। सेठ साहूकारो, दबंगों और राजनैतिक संरक्षण प्राप्त लोगों से गलबहियाँ करने वाले सरकारी मुलाजिमों को एक गरीब की जमीन पर अतिक्रमण दिखा और उसे खाकी और डंडे के जोर पर हटाने पहुँच गई। पुलिस को कार्रवाई रोकना इतना नागवार गुजरा कि वो पति पत्नी को ऐसे मारने भिड़ गई जैसे कोई जानवर को भी नहीं मारता। पुलिस की पिटाई से परेशान पति पत्नी ने कीटनाशक दवा पी ली लेकिन गनीमत यह रही कि समय रहते उपचार मिल गया और दोनों की जान बच गई।

घटना के वीडियो वायरल (Video Viral) होने के बाद गुना के पूर्व सांसद और भाजपा के राज्य सभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया (Former MP of Guna and Rajya Sabha member of BJP Jyotiraditya Scindia) ने मुख्यमंत्री (cm shivraj singh chouhaan) से कार्रवाई का अनुरोध किया, उधर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Su former Chief Minister Kamal Nath) ने भी प्रदेश में जंगलराज बताते हुए मुख्यमंत्री से इस्तीफा मांग लिया। घटना की चौ तरफा निंदा होने के बाद सरकार ने गुना के कलेक्टर एस विश्वनाथन और एसपी तरुण नायक के खिलाफ एक्शन लेते हुए दोनों का तबादला कर दिया और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घटना की उच्चस्तरीय जाँच के आदेश दे दिये।

देर रात ग्वालियर जोन के आईजी को भी हटाया

गुना जिले की घटना के बाद ग्वालियर जोन के आईजी एवं अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक राजाबाबू सिंह (IG of Gwalior Zone and Additional Director General of Police Rajababu Singh) का भी तबादला कर दिया गया। उन्हें पुलिस मुख्यालय भेजा गया है और पुलिस मुख्यालय में पदस्थ आईपीएस अधिकारी अविनाश शर्मा को ग्वालियर का आईजी बनाया गया हैं । हालांकि सरकार ने इस सूची में छह आईपीएस अधिकारियों को इधर से उधर किया है लेकिन चूंकि गुना जिला ग्वालियर जोन में आता है और इसी तबादला सूची में गुना एसपी तरुण नायक को हटाने और नये एसपी राजेश कुमार की पद स्थापना के भी आदेश हैं इसलिए आईजी राजाबाबू सिंह के तबादले को गुना की घटना से जोड़कर देखा जा रहा है ।