ग्वालियर DM-SP पर BJP सदस्य की तरह काम करने के आरोप, कांग्रेस ने की FIR की मांग

ग्वालियर, अतुल सक्सेना

तीन दिनों तक आयोजित भाजपा के सदस्यता ग्रहण समारोह (BJP membership ceremony) के खिलाफ अब कांग्रेस ने FIR की मांग की है। कांग्रेस के ग्वालियर चंबल संभाग (Gwalior Chambal Division) मीडिया प्रभारी ने जिला प्रवक्ता और अभिभाषकों के साथ एडिशनल एसपी को शिकायती दस्तावेज सौंपे। कांग्रेस का आरोप था कि कलेक्टर और एसपी ने भाजपा के सदस्य की तरह काम किया और गृह मंत्रालय के कोरोना को लेकर जारी नियमों का उल्लंघन किया। इसलिए दोनों जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज किया जाए।

कोरोना महामारी के बीच भाजपा के तीन दिवसीय संभागीय सदस्यता ग्रहण समारोह का विरोध कर रही कांग्रेस अब कानूनी लड़ाई लड़ने का मन बना चुकी है। धरना प्रदर्शन कर विरोध जता चुकी कांग्रेस आज पुलिस के पास पहुँच गई। कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता एवं ग्वालियर चंबल संभाग के मीडिया प्रभारी केके मिश्रा, जिला प्रवक्ता धर्मेंद्र शर्मा और वरिष्ठ अभिभाषकों के साथ पड़ाव थाने पहुंचे। वहाँ उन्होंने एडिशनल एसपी सतेंद्र सिंह तोमर को शिकायती आवेदन सौंपा। एडिशनल एसपी ने कांग्रेस से चारों थानों के आवेदन एक ही जगह ले लिए और रिसीविंग दे दी। कांग्रेस नेता केके मिश्रा ने शिकायती आवेदन में आरोप लगाए कि इन तीन दिनों में ग्वालियर कलेक्टर और एसपी ने भाजपा के सदस्य की तरह काम किया है।

कोरोना के लिए जारी गृह मंत्रालय के नियमों का उल्लंघन किया है जो अपराध की श्रेणी में आता है इसलिए इन दोनों अधिकारियों के खिलाफ एफआई आर दर्ज की जाए । कांग्रेस नेता ने कहा कि दोनों अधिकारियों ने चुनाव आयोग के नियमों का भी उल्लंघन किया है इसलिए हम चुनाव आयोग से भी मांग कर रहे हैं कि इन दोनों के रहते निष्पक्ष चुनाव संभव नहीं है इन्हें यहाँ से हटाया जाए। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि यदि 36 घंटे में एफ आईआरनहीं होती तो हमारे लिए कोर्ट के दरवाजे खुले हैं। उधर एडिशनल एसपी ने कांग्रेस द्वारा लाये गए चारों थानों के लिए एफआईआर के पत्रों की प्रति को पड़ाव थाने पर ही रिसीव कर लिया और कहा कि इन आरोपों के परीक्षण के बाद वैधानिक कार्रवाई की जायेगी।