समीक्षा बैठक में बोले ऊर्जा मंत्री ” अभियान चलाकर लगायेंगे बिजली चोरी पर अंकुश”

ग्वालियर । एक दिवसीय दौरे पर ग्वालियर पहुंचे प्रदेश के  ऊर्जा मंत्री प्रियवृत सिंह ने  सोमवार को बिजली कंपनी के अधिकारियों , ग्वालियर चम्बल संभाग से  आठों  जिलों के विधायकों  और जन संवाद कार्यक्रम के तहत जन प्रतिनिधियों और जनता से सीधे बात की। उन्होंने अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक कहा कि बिजली चोरी पर प्रभावी अंकुश जरूरी है इसके लिए एक अभियान चलाया जाएगा। 

मप्र मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी के मैदानी अमले के अधिकारियों के बैठक में ऊर्जा मंत्री ने कहा कि उपभोक्ताओं की व्यक्तिगत शिकायतों (एफओसी) की मॉनीटरिंग महाप्रबंधक स्तर से की जाए। उन्होंने कहा कि ग्वालियर-चंबल संभाग के कुछ जिलों में फीडर सेपेरेशन, आरजीजीवाय, दीनदयाल ग्राम ज्योति योजना और सौभाग्य योजना के गुणवत्ताहीन कार्यों की जांच एक उच्च स्तरीय कमेटी द्वारा की जायेगी।

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि बिजली का बिल समय से भरें, बिजली चोरी की रोकथाम, विद्युत सुरक्षा को लेकर पोस्टर, बैनर तथा अन्य जन माध्यमों के जरिए विशेष अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वे जिला योजना समिति की बैठक में आवश्यक रूप से उपस्थित हों। साथ ही वितरण केन्द्र एवं निम्न दाब  लाइनों की मरम्मत पर विशेष ध्यान दिया जाए। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि दो महीने में ऐसी कार्ययोजना पर काम किया जाए ताकि बिजली चोरी पर प्रभावी अंकुश लग सके।

आई आई टी टी एम के सभागार में ग्वालियर चम्बल संभाग के सभी आठ जिलों के विधायकों के साथ विद्युत वितरण व्यवस्था की समीक्षा करते हुए ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह ने कहा कि रबी सीजन में किसानों को घोषित अवधि में विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करना राज्य शासन की प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि पात्रता वाले जले एवं खराब ट्रांसफार्मरों को अविलम्ब बदला जाए।  उन्होंने ग्वालियर में दीनदयालनगर जोन में उपभोक्ताओं की बढ़ती संख्या को देखते हुए दो जोन बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने  बताया कि ग्वालियर की अवैध कॉलोनियों में विद्युतीकरण के प्रयास शुरू कर दिए गए हैं। सर्वे कर लिया गया है। वित्तीय प्रबंधन होते ही विद्युतीकरण कार्य किया जायेगा। नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग का भी इसमें आवश्यक सहयोग लिया जायेगा। ग्वालियर शहर में एक जीआईएस (गैस इन्सुलेटेड सिस्टम) उपकेन्द्र स्वीकृत कर दिया गया है। अगले चरण में ग्वालियर शहर में दो से तीन अतिरिक्त जीआईएस उपकेन्द्र स्वीकृत किए जायेंगे। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि बिजली बिल सुधार समितियों की बैठक नियमित होना चाहिए। विद्युत दुर्घटनाओं पर रोक लगाना चाहिए। बिलों में सुधार के लिए शिकायत निवारण शिविर नियमित अंतराल में आयोजित किए जाएं। 

ग्वालियर में 5 नए उपभोक्ता सेवा केन्द्र खोले जायेंगे  

ऊर्जा मंत्री ने बताया कि ग्वालियर शहर में अभी रोशनी घर क्षेत्र में एक उपभोक्ता सेवा केन्द्र कार्यरत है। अब ग्वालियर शहर में 5 नए उपभोक्ता सेवा केन्द्र और खोले जायेंगे।  उन्होंने बताया कि दो लाख किसानों को सोलर पम्प से जोड़ा जायेगा। इसके लिए 30 प्रतिशत सबसिडी भारत सरकार एवं 50 प्रतिशत सबसिडी राज्य सरकार देगी। इसके अलावा गुना वृत्त के अंतर्गत स्थित अशोकनगर को नए वर्ष 2020 में नया – बनाया जायेगा। वृत्त बनने से वहां महाप्रबंधक स्तर का कार्यालय खुल जायेगा और उपभोक्ताओं को बेहतर सेवाएं मिलेंगीं।  इस अवसर पर सहकारिता एवं सामान्य प्रशासन मंत्री डॉ. गोविंद सिंह, श्रम मंत्री महेन्द्र सिंह सिसोदया, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर सहित वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक विशेष गढ़पाले उपस्थित थे।  

विद्युत से संबंधित कोई भी समस्या हो तो डायल करें 1912 

ऊर्जा मंत्री चेंबर ऑफ कॉमर्स में जन प्रतिनिधियों और जनता के साथ जन संवाद कार्यक्रम में भी शामिल  हुए यहाँ उन्होंने कहा है कि विद्युत के आम उपभोक्ता को किसी प्रकार की कोई समस्या न हो, यह विभाग की पहली प्राथमिकता है। आम उपभोक्ता को नियमित विद्युत प्रदाय करना हमारी जवाबदारी है। विद्युत से संबंधित कोई भी शिकायत हो तो आम उपभोक्ता 1912 नम्बर पर अपनी शिकायत दर्ज कराएं। उनकी शिकायतों का निराकरण तत्परता के साथ किया जायेगा।  ऊर्जा मंत्री  ने कहा  कि उपभोक्ताओं की शिकायतों को दूर करने हेतु विद्युत समितियों का गठन किया गया है। समितियों की बैठक नियमित हों और संबंधित प्रतिनिधियों को बैठक में आमंत्रित कर लोगों की समस्याओं का निदान किया जाना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि विद्युत समस्या के संबंध में आम उपभोक्ता अगर शिकायत करता है तो उसकी शिकायत का निराकरण प्राथमिकता से किया जाए और मंडल के अधिकारी अपने व्यवहार को भी संयमित और मधुर रखें। मंत्री ने आग्रह किया कि समय पर उपभोक्ता अपने बिलों का भुगतान करें और विद्युत की चोरी को रोकने में विभाग की मदद कर सहयोग प्रदान करें। सभी के सहयोग से हीबिजली कंपनी आम उपभोक्ताओं को निर्वाध रूप से विद्युत प्रदाय करने में सफलता से कार्य करता रहेगा। उन्होंने संवाद कार्यक्रम में जनप्रतिनिधियों एवं आम उपभोक्ताओं द्वारा जो दिक्कतें एवं शिकायतें प्राप्त हुई हैं उसका निराकरण तत्परता से समय-सीमा में करने के निर्देश भी विभागीय अधिकारियों को दिए।कार्यक्रम में बिजली कम्पनी के वरिष्ठ अधिकारी , चेंबर ऑफ कॉमर्स के पदाधिकारी और जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।