ग्वालियर: सब्जी मंडी की 30 दुकानों में लगी आग, मशक्कत के बाद फायर ब्रिगेड ने पाया काबू

ग्वालियर की लक्ष्मीगंज थोक सब्जी मंडी में शनिवार की रात अचानक आग लग गई। आग लगते ही मंडी के आसपास रहने वाले लोगों में भगदड़ मच गई।

ग्वालियर

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। शनिवार की रात ग्वालियर (Gwalior) की लक्ष्मी गंज थोक सब्जी मंडी में भीषण एक लग गई। अग्निकांड (Fire) में करीब 30 दुकाने जलकर खाक हो गई। फायर ब्रिगेड ने बहुत मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया शुरुआती जांच में आग लगने का कारण शॉर्ट सर्किट बताया गया है लेकिन दुकानदार अग्निकांड के पीछे मंडी समिति की साजिश का आरोप लगा रहे हैं।

यह भी पढ़े.. 17 मई को केंद्रीय शिक्षा मंत्री की राज्यों के शिक्षा सचिवों के साथ बैठक, हो सकता है बड़ा फैसला

ग्वालियर की लक्ष्मीगंज थोक सब्जी मंडी में शनिवार की रात अचानक आग लग गई। आग लगते ही मंडी के आसपास रहने वाले लोगों में भगदड़ मच गई। आग की खबर लगते ही दुकानदार भी मंडी पहुँच गए। मंडी समिति और फायर ब्रिगेड को सूचना दी गई। सूचना पर फायर ब्रिगेड की गाड़ियां एक एक कर पहुँचने लगीं और करीब सात गाड़ियों ने पानी फेंक कर आग पर काबू पाया।

फायर ब्रिगेड के नोडल अधिकारी अतिबल सिंह यादव के मुताबिक करीब 25 से 30 दुकानों में एक लगी है। दुकानें लकड़ी के फट्टियों से बनी हुई थी, लकड़ी के काउंटर भी रखे हुए थे इसलिए आग ने जल्दी बड़ा रूप ले लिए लेकिन फायर ब्रिगेड कर्मचारियों ने मशक्कत कर आग पर काबू पा लिया। आग लगने का कारण शॉर्ट सर्किट बताया जा रहा है।

यह भी पढ़े.. मप्र को बड़ी राहत: 1 लाख के नीचे पहुंची एक्टिव केसों की संख्या, 24 घंटे में 7571 नए केस

उधर मंडी के दुकानदारों का आरोप है कि ये आग साजिशन लगाई गई है। दुकानदारों ने मंडी समिति पर साजिश के आरोप लगाए हैं उनका कहना है कि मंडी समिति दुकानें खाली करने के लिए दबाव बना रही है उसने 3 तारीख तक दुकानें खाली करने का अल्टीमेटम दिया है। इसकी जांच होनी चाहिए।