Gwalior News : कोचिंग से लौट रही छात्रा अक्षया यादव की हत्या के मुख्य आरोपी के घर पर चला बुलडोजर

Gwalior News : कोचिंग से घर लौट रही छात्रा अक्षया यादव की हत्या के मुख्य आरोपी सुमित रावत के घर जिला प्रशासन ने आज बुलडोजर चला दिया, पुलिस की मौजूदगी में प्रशासन की टीम कंपू के बजरिया क्षेत्र में पहुंची और उसका मकान धराशायी कर दिया, बताया जा रहा है कि ये मकान अवैध तरीके से शासकीय भूमि पर कब्ज़ा कर बनाया गया था। आपको बता दें कि पुलिस ने इस हत्याकांड में शामिल सभी सात आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

बेटी बचाओ चौराहे पर पास बदमाशों ने मारी गोली 

बीती 10 जुलाई को एक शातिर अपराधी ने अपने साथियों के साथ मिलकर बेगुनाह 11 वी छात्रा अक्षया यादव की गोली हत्या कर दी थी, घटनाक्रम उस समय हुआ जब अक्षया कोचिंग से पढ़कर अपनी सहेली सोनाक्षी शर्मा के साथ घर की तरफ लौट रही थी,  एक्टिवा सवार दोनों सहेलियां सिंधी कॉलोनी के पास बेटी बचाओ चौराहे पर पहुंची ही थी कि सुमित रावत ने अपने बड़े भाई मोंटी रावत और अन्य दो साथियों के साथ मिलकर गोली चला दी।

निशाना अक्षया की सहेली सोनाक्षी थी, गोली अक्षया को लगी 

दरअसल सुमित का निशाना सोनाक्षी थी, हत्या के लिए दो गोलियां चलाई गई, एक गोली सोनाक्षी के कंधे को छूते हुए निकल गई जबकि दूसरी गोली अक्षया के सीने में धंस गई जिससे वो गंभीर घायल होकर गिर गई, उसे अस्पताल पहुंचाया गया जहाँ डॉक्टर ने अक्षया को मृत घोषित कर दिया, अक्षया पूर्व डीजीपी सुरेन्द्र यादव की रिश्ते में नातिन लगती थी।

शुरुआत में चार आरोपी, बाद में बढ़कर हुए सात 

घटना के बाद पुलिस एक्शन में आई, शुरुआत में चार आरोपियों के नाम सामने आये पुलिस ने आरोपियों में से सुमित के बड़े भाई मोंटी को डबरा से गिरफ्तार कर लिया , पूछताछ में इस हत्याकांड में कुल 7 आरोपियों के शामिल होने की बात सामने आई तो पुलिस ने सभी की कुंडली खंगाली और सभी सातों आरोपियों को अलग अलग राज्यों से गिरफ्तार कर लिया।

एक साल से सोनाक्षी का पीछा कर रहा था, शिकायत के बाद भी पुलिस ने एक्शन नहीं लिया    

जो घटनाक्रम सामने आया उसके  मुताबिक मुख्य आरोपी सुमित रावत सोनाक्षी से एकतरफा प्यार करता था और करीब  एक साल से वो सोनाक्षी और उसके परिवार को परेशान कर रहा था, सोनाक्षी की माँ ने सुमित, उसके भाई और अन्य दोस्तों के खिलाफ माधौगंज थाने में शिकायत दर्ज कराई,  लेकिन पुलिस ने कोई एक्शन नहीं लिया, बार बार पुलिस से गुहार लगाई, जन सुनवाई में भी शिकायत की लेकिन कहीं कुछ नहीं हुआ।

पुलिस में शिकायत से भड़का सुमित, रची हत्या की साजिश 

उधर सोनाक्षी द्वारा रिस्पोंस नहीं देने और उसकी माँ द्वारा पुलिस में शिकायत किये जाने से सुमित रावत ने हत्या की साजिश रची उसने अपने बड़े भाई उपदेश रावत उर्फ़ मोंटी, शिवम गुर्जर, विशाल शाक्य, शिवा तोमर, सूरज सिकरवार और बाला सुर्वे के साथ मिलकर हत्या की साजिश रची, पहले वो सोनाक्षी की माँ को मारना चाहता था फिर मौका नहीं मिला तो उसने सोनाक्षी की हत्या की प्लानिंग की और 10 जुलाई की रात कोचिंग से लौटते समय बेटी बचाओ चौराहे पर गोली मार दी लेकिन सोनाक्षी बच गई और एक निर्दोष अक्षया यादव की मौत हो गई।

पुलिस में कई अपराध दर्ज, शासकीय भूमि पर बनाया मकान 

गिरफ़्तारी के बाद पुलिस ने आरोपियों के अपराध खंगाले तो सुमित रावत के खिलाफ कई अपराध पंजीबद्ध मिले वो एक अपराध में जेल की हवा भी खा चुका है, पुलिस ने प्रशासन को सुमित के अपराधों की सूची सौंपी और उसके घर की जांच की बात कही, एसडीएम विनोद सिंह ने बताया कि नगर निगम ने जांच के बाद कंपू क्षेत्र में बना सुमित रावत का मकान शासकीय भूमि  अवैध तरीके से निर्मित होना बताया जिसे आज गिरा दिया गया।

जिला प्रशासन ने सुमित रावत के मकान पर चला दिया बुलडोजर 

उधर सीएसपी विजय भदौरिया ने बताया कि सुमित रावत गुंडा है उसके खिलाफ कई मामले पुलिस थानों में दर्ज हैं उसने साथियों के साथ मिलकर छात्रा अक्षया यादव की हत्या की है, उसने यहाँ कंपू क्षेत्र में सरकारी जमीन पर कब्ज़ा कर मकान बनाया था जिसे तोड़ा जा रहा है, अन्य आरोपियों की भी अवैध संपत्ति और अपराधों की जानकारी जुटाई जा रही है।

Gwalior News : कोचिंग से लौट रही छात्रा अक्षया यादव की हत्या के मुख्य आरोपी के घर पर चला बुलडोजर

ग्वालियर से अतुल सक्सेना की रिपोर्ट


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News