Gwalior News : रिहायशी क्षेत्र में संचालित गत्ता फैक्ट्री में भीषण आग, मचा हडकंप, मशक्कत के बाद आग पर काबू

नगर निगम के उपायुक्त अतिबल सिंह यादव ने संभावना जताते हुए कहा कि हो सकता है किसी ने जलती हुई बीड़ी फेंक दी हो जिससे आग भड़की हो क्योंकि जहाँ आग लगी वहां बिजली कनेक्शन नहीं दिखा।

Atul Saxena
Updated on -
gwalior fire

Gwalior News : ग्वालियर के हजीरा थाना क्षेत्र के गदाईपुरा में संचालित एक गत्ता फैक्ट्री में आज सुबह भीषण आग लग गई, चूँकि गत्ता फैक्ट्री रिहायशी क्षेत्र में थी तो आसपास रहने वाले लोगों में हडकंप मच गया, पुलिस को सूचना दी गई जिसके पाव पहुंची फायर ब्रिगेड की गाड़ियों ने मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया, आग बुझाने में करीब 30 गाड़ी पानी खर्च हुआ, नगर निगम आग को काबू करने में जो कुल खर्चा हुआ है वो फैक्ट्री मालिक से वसूलेगा।

जानकारी के मुताबिक गदाईपुरा क्षेत्र में वैष्णोपुरम कालोनी बसी है यहाँ मनीष अग्रवाल की एक फैक्ट्री है जिसमें गत्ता बनाया जाता है, आज सुबह करीब 4 बजे के आसपास लोगों ने फैक्ट्री से आग की लपटें उठती देखीं, रिहायशी इलाका होने से लोग घबरा गए तत्काल पुलिस और फायर ब्रिगेड को सूचना दी गई।

30 गाड़ी पानी फेंक 8 घंटे में किया गया आग पर काबू 

मौके पर जब फायर ब्रिगेड की गाड़ियाँ पहुंची तो फैक्ट्री से आग की बड़ी बड़ी लपटें निकल रहीं थी , फायर ब्रिगेड के कर्मचारियों ने लगातार पानी की बौछार पर आग पर काबू करने का प्रयास किया औ र्करिब 8 घंटे की मशक्कत के बाद 30 गाड़ी पानी फेंक कर आग पर काबू कर लिया।

जलती हुई बीड़ी बनी अग्निकांड की वजह 

नगर निगम के उपायुक्त , नोडल अधिकारी फायर ब्रिगेड अतिबल सिंह यादव ने मीडिया को बताया कि आग पर काबू पा लिया गया है, अब धुंआ है, हो सकता है अन्दर और आग बची हो इसलिए पानी की बौछार और कर रहे हैं, उन्होंने संभावना जताते हुए कहा कि हो सकता है किसी ने जलती हुई बीड़ी फेंक दी हो जिससे आग भड़की हो क्योंकि जहाँ आग लगी वहां बिजली कनेक्शन नहीं दिखा।

आग बुझाने में हुए खर्चे की राशि फैक्ट्री संचालक से वसूलेगी नगर निगम 

उन्होंने कहा कि घटना की जायेगी, हम लगातार ऐसी फैक्ट्रियों को नोटिस दे रहे हैं जो रिहायशी इलाके में हैं या नियमों का पालन नहीं करते, ऐसे लोगों को भी नोटिस दे रहे हैं जो ज्वलनशील चीजों का व्यापार घर के नीचे दुकान में करते हैं औ र्खुद ऊपर रहते हैं , लोगों को भी अपनी सुरक्षा का ध्यान रखना चाहिए, उन्होंने कहा कि इस घटना की जाँच की जाएगी और फैक्ट्री संचालक से आग बुझाने में हुए खर्चे की राशि भी वसूली जाएगी।


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News