Gwalior News : कनपटी पर पिस्तौल लगा बनाया शादी करने का दवाब, कहा तेरा कराऊंगा धर्मांतरण, पुलिस ने गिरफ्तार कर भेजा जेल

Atul Saxena
Published on -

Gwalior News : ग्वालियर पुलिस ने एक ऐसे सिरफिरे आशिक को जेल की सलाखों के पीछे पहुंचा दिया है जो एक नाबालिग का पीछा पर उसे परेशान कर रहा था, मना  करने के बाद भी रास्ते में लड़की के साथ छेड़खानी करता था, पुलिस से बेख़ौफ़ सिरफिरे आशिक ने घर में घुसकर लड़की की कनपटी पर पिस्तौल लगा दी और बोला शादी नहीं की तो जान से मार दूंगा, आरोपी लड़की को धर्म परिवर्तन करने का भी दबाव बना रहा था, पुलिस ने आरोपी के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है।

बेख़ौफ़ मनचले ने की नाबालिग से छेड़छाड़  

ग्वालियर के कोतवाली थाना क्षेत्र में रहने वाली एक नाबालिग लड़की ने अपनी माँ के साथ पुलिस थाने पहुंचकर एक लड़के के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है, आरोपी लड़के का नाम समीर खान है, नाबालिग ने बताया कि समीर खान लंबे समय से मेरे पीछे पड़ा है  मेरा नंबर पता कर फोन लगाकर परेशान करता है, पढ़ने जाती हूँ तो रास्ते में रोक लेता है, वो मुझसे शादी करने का दबाव बनाता है, बच्ची ने बताया कि एक दिन वो घर में घुस आया और कनपटी पर पिस्तौल लगाकर बोला मुझसे शादी कर नहीं तो जान से मार दूंगा।

बच्ची ने आत्महत्या की कोशिश की, माँ पहुंची पुलिस के पास

बच्ची की माँ ने बताया कि समीर रास्ते में उसे छेड़ता, परेशान करता , बच्ची से बोलता मैं तुझे और तेरी माँ को जान से मार दूंगा, मेरी बेटी इतनी घबरा गई कि उसने फांसी लगाकर जान देने की कोशिश की, फिर मैं पुलिस के पास पहुंची, माँ ने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि वो धर्म परिवर्तन कराने और शादी करने का दबाव बनाता है।

पुलिस ने गिरफ्तार कर भेजा जेल 

पुलिस ने नाबालिग और उसकी माँ की शिकायत के बाद छेड़छाड़ की धाराओं, पोक्सो एक्ट की धाराओं सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया फिर उसे जेल भेज दिया है, पुलिस ने कहा कि शिकायत को जांच में ले लिया गया है।

ग्वालियर से अतुल सक्सेना की रिपोर्ट 


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News