शहर में स्थित दो बांधों के पानी को सहेजकर बनेंगे पिकनिक स्पॉट, बोटिंग भी होगी

gwalior-saving-the-water-of-two-dams-become-picnic-spot

ग्वालियर। शहर में तेजी से गिरते जलस्तर ने सरकारी तंत्र के साथ साथ जनप्रतिनिधियों की भी चिंता बढ़ा दी है। अब जनप्रतिनधि इसके विकल्प तलाशने लगे है। इसी के तहत ग्वालियर दक्षिण विधानसभा क्षेत्र के विधायक प्रवीण पाठक ने अधिकारियों को साथ लेकर हनुमान बांध और वीरपुर बांध का निरीक्षण किया। निरीक्षण के बाद इन दोनों बांधों के आसपास से अतिक्रमण हटाने, जलभराव को संरक्षित करने और पिकनिक स्पॉट के रूप में विकसित करने के निर्देश दिए।

ग्वालियर दक्षिण विधानसभा में स्थित हनुमान बांध और उससे कुछ दूरी पर स्थित वीरपुर बांध के जीर्णोद्धार के लिए एक बार फिर कवायद होगी। पिछले कुछ वर्षों में ये तीसरा या चौथा मौका होगा जब सरकारी मशीनरी और जन सहयोग से इसके जीर्णोद्धार के प्रयास होते हैं लेकिन सरकारी अनदेखी के चलते लोग फिर अतिक्रमण कर लेते हैं। पिछले साल ही पूर्व मंत्री नारायण सिंह कुशवाह ने खुद जनसहयोग और सरकारी सहयोग से वीरपुर बांध का गहरीकरण कराया था। इससे पहले वे हनुमान बांध के लिए भी प्रयास कर चुके क्योंकि वे भी दक्षिण विधानसभा से विधायक थे और मंत्री भी। लेकिन नतीजा आज भी वही है। लोग बांध के आसपास कब्ज़ा करे हुए हैं । किसी ने घर बना लिए हैं तो कोई खेती कर रहा है।

विधायक प्रवीण पाठक ने जब अधिकारियों के साथ ये सब देखा तो उन्होंने फटकार लगाई।श्री पाठक ने नगर निगम के अधिकारियों को निर्देश दिए  कि बांधों के आसपास का अतिक्रमण हटाया जाये, बांधों के गेटों को अच्छे से बंद करने की व्यवस्था की जाए जिससे बारिश के दिनों में जब बांध भरें तो पानी को सहेजा जा सके जो भूजलस्तर बढ़ाने में सहायक बने। विधायक श्री पाठक का कहना है कि ये दोनों बांध शहर के बीच में स्थित हैं इन्हें पिकनिक स्पॉट के रूप में विकसित किया जायेगा। इसके लिए जिला प्रशासन,नगर निगम ,जल संसाधन और पर्यटन विभाग के सहयोग से कार्य योजना बनाई जा रही है। और उम्मीद है कि महीने के अंत तक कम शुरू किया जा सके। कार्य योजना के तहत बांधों में बोटिंग कराना, सैलानियों के खाने पीने के लिए ओपन रेस्त्रां और हट्स आदि भी शामिल हैं। विधायक का मानना है कि शहर में ही नए पिकनिक स्पॉट बनने से लोग दूर के पिकनिक स्पॉट पर जाने से बचेंगे,दोनों बांधों को अतिक्रमण से आजादी मिलेगी और लोगों को रोजगार भी मिलेगा।