सात दिन बढ़ सकती है ग्वालियर व्यापार मेला की अवधि, कारोबार 700 करोड़ पहुँचने की उम्मीद

ग्वालियर। सैलानियों के लिए आकर्षण का केंद्र बनता जा रहा ग्वालियर व्यापार मेला अब समापन की तरफ बढ़ रहा है लेकिन  शुरुआती तैयारी में देरी एवं बारिश के चलते हुए नुकसान को देखते हुए मेला कारोबारियों ने इसकी अवधि सात दिन बढ़ाने की मांग की है। उम्मीद की जा रही है मेला  प्राधिकरण इस मांग को स्वीकार कर लेगा। यदि ऐसा होता है तो वाहनों की बिक्री पर राज्य शासन द्वारा रोड टैक्स में दी जा रही 50 प्रतिशत छूट भी जारी रहेगी। एक शताब्दी से ज्यादा पुराना रियासतकालीन ग्वालियर व्यापार मेला  सैलानियों को अपनी तरफ खींच रहा है। अब तक यहाँ 500 करोड़ का कारोबार हो चुका है। 27 दिसंबर को शुरू हुआ इस बार के मेला की अवधि 12 फरवरी है लेकिन मेला कारोबारियों ने इसकी अवधि सात दिन बढ़ाने की मांग मेला प्राधिकरण से की है। व्यापारियों का तर्क है कि मेला भले ही 27 दिसंबर को शुरू हुआ हो लेकिन तैयारियों में हुई देरी के चलते ये 12 जनवरी से ही सही शुरू हो पाया वहीं  जनवरी में कई बार हुई बारिश ने व्यापार को प्रभावित किया है इसलिए इसकी अवधि बढ़ना चाहिए। उम्मीद की जा रही है कि कारोबारियों की मांग को मेला  प्राधिकरण स्वीकार कर लेगा और यदि ऐसा होता है तो ग्वालियर व्यापार मेला 20  या 22 फरवरी तक रहेगा।  यदि मेला अवधि बढ़ती है तो राज्य शासन द्वारा मेले में वाहनों की बिक्री पर रोड टैक्स में दी गई 50 प्रतिशत छूट भी जारी रहेगी। गौरतलब कि अबतक  मेला 500 करोड़ कारोबार कर चुका है और यदि अवधि बढ़ती है तो ये कारोबार 700 करोड़ तक पहुंच सकता है।