Gwalior : अब महिलाओं से छेड़खानी करना पड़ेगा महंगा, एक बटन दबाते ही मिलेगी HELP

स्मार्ट सिटी कंपनी (Smart city company) ने इसके लिए ग्वालियर (Gwalior) के 20 चौराहों पर इमरजेंसी कॉल बॉक्स लगाए हैं जिसमें लगा लाल पैनिक बटन दबाते ही तत्काल मदद पहुँच जायेगी।

gwalior

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। छेड़खानी, महिला अपराध (Women’s Crime), दुर्घटना, लूट(Loot), चोरी या अन्य किसी आपात स्थिति और अव्यवस्थित यातायात से निपटने के लिए अब शहर के किसी भी व्यक्ति को घबराने की जरूरत नहीं है। स्मार्ट सिटी कंपनी (Smart city company) ने इसके लिए ग्वालियर (Gwalior) के 20 चौराहों पर इमरजेंसी कॉल बॉक्स लगाए हैं जिसमें लगा लाल पैनिक बटन दबाते ही तत्काल मदद पहुँच जायेगी।

यह भी पढ़े.. MP Politics : अब सामने आया लक्ष्मण सिंह का यह Tweet, क्या है सियासी मायने

ग्वालियर स्मार्ट सिटी (Gwalior Smart City) द्वारा इंटेलिजेंट ट्रैफ़िक मैनेजमेंट सिस्टम(Intelligent Traffic Management System), आइटीएमएस परियोजना के माध्यम से शहर के मुख्य चौराहों तिराहों पर नागरिकों को व्यवस्थित यातायात सुविधाओं के साथ ही सुरक्षा और आपात स्थिति में तुरन्त सहायता मिल सके इसके लिये कई व्यवस्था की गई है। इंटेलिजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम, आइटीएमएस के माध्यम से शहर के व्यस्त मार्गों व चौराहों पर यातायात को सुगम बनाने के लिये आधुनिक तकनीक से सुधार किये जा रहे हैं।

इस परियोजना में यातायात को सुगम बनाने के लिये जहाँ आधुनिक ऑटोमैटिड ट्रैफ़िक लाइट्स, मार्ग के अनुरूप डिवाइडर, ज़ेब्रा क्रॉसिंग आदि को विशेष तकनीक की सहायता से विकसित किया गया है वहीं सुरक्षा की दृष्टि और अन्य आपात स्थिति में तुरन्त सहायता प्राप्त करने के लिये प्रत्येक जंक्शन पर इमरजेंसी कॉल बॉक्स सहित पब्लिक एड्रेस सिस्टम (Public address system) को भी जोड़ा जा रहा है। जंक्शन पर लगे इमरजेंसी कॉल बॉक्स के माध्यम से एक पैनिक बटन दबा कर तुरन्त सहायता प्राप्त की जा सकती है।

यह भी पढ़े.. होशंगाबाद कलेक्टर ने विभाग को भेजा यह प्रस्ताव, केन्द्र को भेजेगी शिवराज सरकार

स्मार्ट सिटी सीईओ जयति सिंह ने जानकारी देते हुये बताया कि इंटेलिजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम के तहत लगाया गया इमरजेंसी कॉल बॉक्स ईसीबी आम नागरिकों के लिये बहुत ही उपयोगी है। ग्वालियर (Gwalior) में आइटीएमएस सिस्टम के माध्यम से 20 चौराहों और तिराहों पर इस इमरजेंसी कॉल बॉक्स को लगाया गया है बाकि शेष जंक्शनों पर भी इसे लगाने का कार्य किया जा रहा है। जो जल्द ही पूरा कर लिया जायेगा।

जयति सिंह ने बताया कि चौराहों तिराहों पर आईटीएमएस के साथ लगे इमरजेंसी कॉल बॉक्स का उपयोग बहुत ही आसान है। इसमें लगे एक लाल बटन को दबाते ही कॉल द्वारा स्मार्ट सिटी कंट्रोल रूम में बात की जा सकती है, जहाँ अपनी समस्या बता कर यथासंभव तत्काल समाधान प्राप्त किया जा सकता है, वही ईसीबी के माध्यम से किसी भी प्रकार की आपात स्थिति जैसे एक्सीडेंट, चोरी, झगड़ा, छेड़छाड़ एवं अन्य घटनाओं की भी सूचना तत्काल दे कर सहायता प्राप्त की जा सकती है। इमरजेंसी कॉल बॉक्स हर वर्ग खासकर महिलाओं को सुरक्षात्मक माहौल प्रदान करने में भी काफी उपयोगी है।

यह भी पढ़े.. दिग्विजय सिंह का बड़ा ऐलान- मध्य प्रदेश में करेंगे किसान महापंचायत का आयोजन

जयति सिंह ने बताया कि आम लोग याताय़ात नियमों को लेकर जागरूक होने के साथ आईटीएमएस सिस्टम के इन खास सुरक्षात्मक फीचरों से भी परिचित हो इसके लिये पब्लिक एड्रेस सिस्टम का भी प्रयोग किया जा रहा है वही समय समय पर स्मार्ट सिटी द्वारा जनजागरुकता अभियान भी चलाये जा रहे है ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग यातायात (Transportation) नियमो के पालन करने को लेकर जागरुक होने के साथ इन सुरक्षात्मक फीचरों का लाभ उठा सकें।