क़तर के दोहा में ग्वालियर की युवती की मौत, भाई ने लगाया हत्या का आरोप

Gwalior's-women's-death-in-Doha-in-Qatar-brother-says-murder

ग्वालियर।  ग्वालियर में तैनात SAF की 14 वीं बटालियन के सिपाही रामेश्वर बघेल अपनी बहन के लिए इन्साफ मांगते दर दर भटक रहे हैं | लेकिन उनकी कहीं सुनवाई नहीं हो रही है। उनके मुताबिक बीती 27 दिसंबर को उनके बहनोई रविंद्र ने दोहा से फोन कर सूचना दी कि उनकी बहन ममता की तीसरी मंजिल से गिरकर मौत हो गई है। रामेश्वर इसे दुर्घटना नहीं हत्या कह रहे हैं उन्होंने सुबूत के तौर पर ऑडियो मैसेज भी बताये है जो इस समय सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं।  

ग्वालियर में नाका चन्द्रबदनी के पास न्यू पारस विहार कॉलोनी में रहने वाले रामेश्वर बघेल के अनुसार उन्होंने अपनी लाड़ली छोटी बहन ममता की शादी 27 नवम्बर 2015  को छतरपुर निवासी रविंद्र बघेल से की थी। रविंद्र मुंबई की एक कम्पनी में इंजीनियर था।  बाद में उसकी नौकरी क़तर एयरबेस में  एयर नॉटिकल इंजीनियर के रूप में लग गई।  उसके बाद वो ममता  को लेकर क़तर दोहा चला गया। रामेश्वर के अनुसार थोड़े दिन बाद ही बहन ममता  के फोन उसके पास आने लगे और उसमें वो रविंद्र द्वारा मारे पीटे जाने और परेशां करने की शिकायत करने लगी।  उन्होंने और परिवार के अन्य लोगों ने ममता को कई बार समझा बुझा दिया लेकिन रविंद्र द्वारा मारपीट का सिलसिला जारी रहा।  रामेश्वर के अनुसार बीती 25  दिसंबर को  ममता ने रट हुए उससे बात की और कहा कि मुझे मार रहे हैं, मुझे बचा लो, मैं आपस एबॉट कर रही हूँ तो मेरा वीडियो भी बना रहे हैं।  उसके दो दिन बाद 27 दिसंबर को रविंद्र ने दोहा से फोन किया कि ममता अपार्टमेंट की तीसरी मंजिल से गिर गई है। ममता चार भाई बहनों में सबसे छोटी और लाड़ली थी।  रामेश्वर के दोनों भाई भी पुलिस में ही हैं।  रामेश्वर के अनुसार उन्होंने बहन का शव लाने और रामेश्वर पर ह्त्या का मामला दर्ज कराने के लिए ग्वालियर एसपी और छतरपुर एसपी से गुहार लगाईं लेकिन उनकी किसी ने भी मदद नहीं की।  रामेश्वर का आरोप है कि  ममता ने उन्हें बताया था कि  दोहा पहुँचने के बाद रविंद्र 5  लाख नगद और एक 18 लाख की एक्सयूवी कार दहेज़ के नाम रहा था और अपने परिजनों के कहने पर ममता को परेशां करता था।  

बहन के हत्यारे को सजा दिलाने के लिए और उसका अंतिम चेहरा देखने के लिए परेशान रामेश्वर प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी से मिले जिसके बाद मंत्री जी ने दोनों जिलों के एसपी को रामेश्वर की मदद करने के निर्देश दिए। मंत्री के अनुसार उन्हें जानकारी लगी है कि  शुक्रवार शाम तक क़तर एयरबेस के दो कर्मचारी ममता का शव लेकर दिल्ली पहुँच जायेंगे। वहीँ रामेश्वर को पुलिस ने वहीँ रोक लिया है।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here