यहां राहुल के खिलाफ औपचारिकता बना भाजपा का आन्दोलन, बड़े नेताओं ने बनाई दूरी

ग्वालियर। राफेल मामले में सुप्रीम कोर्ट द्वारा केंद्र सरकार क्लीन चिट देने के बाद भाजपा हमलावर हो गई है और राहुल सहित पूरी कांग्रेस से माफ़ी मांगने की मांग कर रही है। इसे लेकर भाजपा ने आज प्रदेशव्यापी आन्दोलन किया लेकिन ये आन्दोलन ग्वालियर में महज औपचारिकता बन गया। आन्दोलन से बड़े नेताओं ने दूरी बनाये रखी।

राहुल गांधी का “चौकीदार चोर है” नारा चुनावों में बहुत गूंजा। राफेल विमान सौदे में गड़बड़ियों और भ्रष्टाचार के आरोपों के साथ राहुल गांधी और पूरी कांग्रेस ने इए भाजपा के खिलाफ इस्तेमाल किया। लेकिन इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने कल एक फैसला दिया है जिसके बाद भाजपा कांग्रेस पर हमलावर हो गई है । भाजपा का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री को क्लीन चिट दे दी है इसलिए अब समझ में आ जाना चाहिए कि चोर कौन है। भाजपा ने आज इसे लेकर एक रैली निकाली। जिला अध्यक्ष देवेश शर्मा के नेतृत्व में भाजपा कार्यकर्ता और पदाधिकारी हाथ में बैनर और तख्ती लिए राहुल गांधी माफ़ी मांगो के नारे लगा रहे थे। पार्टी कार्यालय मुखर्जी भवन से शुरू हुई ये रैली महज औपचारिकता बन गई । मात्र 15 मिनिट में केवल एक किलोमीटर चलाकर रैली जा समापन हो गया। इतना ही नहीं इस आन्दोलन से बड़े नेताओं ने भी दूरी बनाये रखी । भाजपा के तीन पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया, माया सिंह और नारायण सिंह कुशवाह सहित कई बड़े नेता और प्रदेश पदाधिकारी रैली में दिखाई नहीं दिए। यहाँ तक कि जिले से एक मात्र भाजपा विधायक भारत सिंह भी आन्दोलन में दिखाई नहीं दिए। जिससे साफ़ समझ आता है कि भाजपा नेताओं ने ही आन्दोलन को हलके में लिया। अब इसका कांग्रेस पर कितना असर होगा ये समय ही बताएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here