ग्वालियर। राजधानी भोपाल में कांग्रेस सेवादल की ओर बांटी गई एक किताब में वीर सावरकर से जुड़ी अपमानजनक बातों को लेकर शुरू हुए विवाद के बीच हिन्दू महासभा एक्शन में आ गई है। महासभा ने कांग्रेस को चेतावनी देते हुए कहा है कि वो पांच दिन में माफी मांगे वरना 12 जनवरी पर उग्र आंदोलन होगा।

कांग्रेस सेवादल ने पिछले दिनों भोपाल में आयोजित अपने 10 दिवसीय कैंप में वीर सावरकर के जीवन के पहलुओं पर आधारित किताब “‘वीर सावरकर कितने वीर?”  का वितरण किया था। किताब में वीर सावरकर के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणियां की हैं हैं।  इस किताब में महात्मा गांधी की हत्या, नाथूराम गोडसे और वीडी सावरकर के बारे में बताया गया है। डॉमिनिक लैपिएर और लैरी कॉलिन की किताब ‘फ्रीडम एट मिडनाइट’ का जिक्र करते हुए इसमें लिखा है, ‘ब्रह्मचर्य धारण करने से पहले नाथूराम गोडसे के एक ही शारीरिक संबंध का ब्यौरा मिलता है। यह समलैंगिक संबंध थे। उनका पार्टनर था उनका राजनैतिक गुरु वीर सावरकर। किताब के 14वें पन्ने पर सवाल है, ‘क्या सावरकर ने हिंदुओं को अल्पसंख्यक महिलाओं से बलात्कार करने के लिए प्रोत्साहित किया?’ इसके जवाब में लिखा है, ‘यह सही है, सावरकर ने बलात्कार को एक न्यायसंगत राजनैतिक हथियार बताया था। अपनी पुस्तक ‘सिक्स ग्लोरियस एपोक्स ऑफ इंडियन हिस्ट्री’ में जानवरों की व्यावहारिक प्रवृत्ति को जोड़ते हुए सावरकर ने व्याख्या की कि कैसे हर जानवर अपने अस्तित्व को बनाए रखने के लिए अपनी आबादी बढ़ाना चाहता है। यहां तक कि रावण और सीता के बारे में वे कहते हैं कि शत्रु की महिला को अगवा करने और उससे बलात्कार करने को तुम अधर्म कहते हो? ये तो परोधर्म है। महानतम कर्तव्य। उनके अनुसार हिंदुओं के विरुद्ध मुस्लिम महिलाएं इसलिए भाग लेती हैं क्योंकि उन्हें हिन्दू पुरुषों से इसके लिए बदला लिए जाने का डर नहीं होता है जो कि इस विकृत सोच से ग्रस्त हैं कि महिलाओं को शिष्टाचार और सम्मान देना चाहिए । किताब सामने आने के बाद हिन्दू महासभा ने कांग्रेस पर हमला बोला है। हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. जयवीर भारद्वाज ने चेतावनी दी है कि यदि कांग्रेस ने 5 दिन में माफी नहीं मांगी तो 12 जनवरी को हिंदू महासभा विशाल मशाल जुलूस निकालकर विरोध प्रदर्शनों की शुरुआत करेगी। कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने इसकी शुरुआत की है लेकिन सब जानते हैं कि कांग्रेस का चरित्र कैसा है । उन्होंने कहा कि हमें मालूम है कि सोनिया गांधी, राजीव गांधी, राहुल गांधी और ज्योतिरादित्य सिंधिया का चरित्र कैसा है फिर इसे उछाला जाएगा।