कमलनाथ पर जमकर बरसे नरोत्तम, कहा-15 माह में 15 मिनट के लिए ग्वालियर चंबल नहीं आए अब वोट मांग रहे

नरोत्तम बोले, कमलनाथ ने संभाग के बड़े नेता के पी सिंह, अशोक सिंह और गोविंद सिंह को घर बैठे दिया है, वो कांग्रेस प्रत्याशी को भी नहीं पहचानेंगे

ग्वालियर, अतुल सक्सेना| ग्वालियर (Gwalior) के पूर्व विधानसभा क्षेत्र में भाजपा प्रत्याशी मुन्नालाल गोयल (BJP Candidate Munnalal Goyal) के समर्थन में आमसभा को संबोधित करने पहुंचे प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) ने राहुल गाँधी, सोनिया गांधी और कमलनाथ पर जमकर निशाना साधा| डॉ मिश्रा ने कहा कि कमलनाथ ने संभाग के बड़े नेताओं को घर बैठा दिया, 15 माह के शासन में 15 मिनट के लिए ग्वालियर चंबल अंचल नहीं आए। उनको इस क्षेत्र से बू आती थी|

नरोत्तम मिश्रा ने जनता को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस हम पर आरोप लगाती है कि भाजपा विपक्ष खत्म करना चाहती है अरे भाई जिस पार्टी का नेता राहुल गाँधी हमारा स्टार प्रचारक है उसे हम क्यों खत्म करेंगे। जो पाकिस्तान पहले कश्मीर मांगता था, वह अब भीख मांगता है वहीं उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर हमला बोलते हुए कहा कमलनाथ ने संभाग के बड़े नेता के पी सिंह, अशोक सिंह और गोविंद सिंह को घर बैठे दिया है| कमलनाथ 15 माह के शासन में 15 मिनट के लिए ग्वालियर चंबल अंचल नहीं आए। उनको इस क्षेत्र से बू आती थी, इस ग्वालियर चंबल अंचल के कारण ही श्री कमलनाथ मुख्यमंत्री बने थे और कमलनाथ ने सर्वाधिक उपेक्षा इस अंचल की, अब वह वोट मांगने आ रहे हैं।

गृहमंत्री मिहरा ने कहा कमलनाथ के सामने तो अगर डाॅ. सतीश सिकरवार पहुंच जाएं तो वह सतीश सिकरवार को भी नहीं पहचानेंगे, क्योंकि कमलनाथ पर उम्र हावी हो गई है। कमलनाथ ने केपी सिंह, दिग्विजय सिंह, गोविंद सिंह सभी को घर बिठा दिया। उन्होंने कहा कि हमारे शिवराज जी हर माह अंचल आते हैं, इस चुनाव की विशेषता यह है कि कांग्रेसी काम के नाम पर वोट नहीं मांग रहे हैं, हमें गाली देकर वोट मांग रहे हैं। कमलनाथ की सरकार सदी की सबसे भ्रष्ट सरकार थी, वल्लभ भवन दलालों का अड्डा बन गया था, पर्दे के पीछे से सरकार कोई और चला रहा था, डोर किसी और के हाथ में थी। उनका कहना था कि मुन्ना भैया भारत माता की जय बोल रहे हैं, यह संगत का फल है, कुछ विदेशी और पाश्चात्य संस्कृति के लोगों ने कांग्रेस की स्थापना की और आज भी कांग्रेस की अध्यक्ष विदेशी है। एक ओर हमारे नेता और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं, जिन्होंने विश्व में भारत माता के माथे को गौरवान्वित किया है, देश में आतंकवाद को खत्म किया है।

उदाहरण देते हुए नरोत्तम ने कहा कहा कि केंद्र में मोदी सरकार के आने से पहले एनाउंस होता था कि आप स्टेशन में किसी भी पड़ी वस्तु को न छुएं, यह बम हो सकता है। लेकिन यह आवाज आजकल सुनाई नहीं देती। आज पाक की तरफ से गोली चलती है तो भारत की तरफ से गोला चलता है। पहले पाक कश्मीर मांगता था आज वह भारत से भीख मांगता है, उसी श्री मोदी की पार्टी के प्रत्याशी मुन्नालाल गोयल है। दूसरी तरफ राहुल गांधी है, जो कहते थे 10 दिन में कर्जा माफ नहीं हुआ तो हम मुख्यमंत्री बदल देंगे, राहुल की तुलना श्री मोदी से करते हुए कहा कि कोई पासंग ही नहीं है।

भाजपा प्रत्याशी मुन्नालाल गोयल ने कहा कि 3 नवंबर को लोकतंत्र का महापर्व है, जनता के सामने सवाल यह है कि 2018 में चुनाव जीतने के बाद भी मैंने विधायक पद से इस्तीफा क्यों दिया? मुझे तो कमलनाथ ने मंत्री पद का आॅफर दिया था, मैंने उनका यह आॅफर ठुकरा दिया। हमारा मकसद जनता की सेवा करना है और सामने वाली प्रत्याशी का मकसद घर का विकास। उन्होंने कहा कि हमारा और हमारी पार्टी का मुख्य लक्ष्य क्षेत्र में विकास हो, गरीब तरक्की करें और क्षेत्र में शांति ाले ने क्यों छोड़ी, उसके परिवार को भारतीय जनता पार्टी ने सात टिकट दिए, फिर भी वह भाजपा को सामंतवादी पार्टी कहते हैं, वह केवल अपना स्वार्थ और ठेकेदारी देखते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here