सिंधिया से बोली इमरती “महाराज ऐसा कभी मत बोलना” और बहने लगे आंसू

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनकी कट्टर समर्थक इमरती देवी का एक वीडियो सामने आया है जिसमें इमरती भावुक हो रही हैं और कह रही है महाराज ऐसा कभी मत कहना। सिंधिया उनको संबंल बँधाते हुए नजर आ रहे हैं।

यह भी पढ़ें… उज्जैन : कोचिंग सेंटर्स के पास संचालित 07 स्पा सेंटर में पुलिस का छापा, चल रहा था देह व्यापार

शनिवार को केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ग्वालियर में थे और श्याम वाटिका में आयोजित अनुसूचित जाति के कार्यक्रम में पहुंचे थे। कार्यक्रम के दौरान सिंधिया ने आए हुए लोगों को एक-एक करके पुकारा और उन्हें भोजन की प्लेट लगा कर दी। इसके पहले लोगों को संबोधित करते हुए वे भावुक हो गए और उन्होंने कहा कि मैं अगर ना भी रहूं तब भी आपके समाज के उत्थान के लिए हमेशा काम होते रहेंगे। सिंधिया इसके बाद जब भोजन कर रहे थे तब उनके साथ लाल सिंह आर्य, इमरती देवी और प्रधुम्न तोमर भी मौजूद थे। सिंधिया ने कहा मैं भावुक हो गया था। इस पर इमरती की आंखों से आंसू बह निकले और वह बोली “महाराज यह गलत है। आपको ऐसा नहीं बोलना था।” इमरती ने कहा “यहां जितने भी लोग खड़े हैं सब आपकी दम पर हैं। महाराज तुम हो तो हम हैं। आपको ऐसा बिल्कुल नहीं बोलना था” इस पर सिंधिया बोले मेरे कहने का तात्पर्य था कि मेरे पूज्य स्वर्गीय माधव महाराज ने भी ग्वालियर के पानी की सप्लाई के लिए सौ साल पहले ही व्यवस्था कर दी थी। इस पर इमरती बोली कि आप के लिए यह समाज खड़ी है। सब आप ही के लिए खड़ी है। यह पहला मौका नहीं जब इमरती की सिंधिया के प्रति भावुकता सामने आई हो। इमरती ही वह पहली शख्स थी कि जब सिंधिया ने कांग्रेस छोड़ बीजेपी का दामन थामने की बात कही थी और इमरती ने कहा था महाराज आप कहोगे तो हम कुएं में कूद जाएंगे।