जिला अस्पताल में अव्यवस्थाएं देख भड़के प्रभारी मंत्री, CMHO ने RMO को दिया नोटिस

In-charge Minister Tulsiram Silawat Gwalior visit : प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट ग्वालियर आते ही रेलवे स्टेशन से सीधे जिला चिकित्सालय मुरार पहुंचे, यहाँ उन्होंने निरीक्षण किया, मंत्री सिलावट जिला चिकित्सालय परिसर में गंदगी देखकर और साफ़ सफाई सही नहीं होने पर भड़क गए, उन्होंने CMHO और सिविल सर्जन से इसे लेकर कड़ी नाराजगी जताई। मंत्री की नाराजगी के बाद CMHO ने जिला चिकित्सालय ने RMO डॉ आलोक पुरोहित को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट ने जिला चिकित्सालय के विभिन्न वार्डों, ओपीडी व दवा वितरण केन्द्र सहित अन्य स्वास्थ्य सेवाओं का जायजा लिया। उन्होंने मरीजों से उनका हालचाल जाना उनसे अस्पताल की व्यवस्थाओं की व्यवस्थाओं के सम्बन्ध में जानकारी ली ।

जिला अस्पताल में अव्यवस्थाएं देख भड़के प्रभारी मंत्री, CMHO ने RMO को दिया नोटिस

प्रभारी मंत्री ने निरीक्षण के दौरान सिविल सर्जन सह अस्पताल अधीक्षक को निर्देश दिए कि जिला चिकित्सालय की स्वाथ्य सेवाएँ हमेशा सुदृढ़ रहें। मरीजों के इलाज में कोई कमी न रहे। उन्होंने कहा जिला चिकित्सालय में स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार के लिए सरकार ने धन की कमी नहीं आने दी है। इसलिए स्वास्थ्य सेवाएँ देने में कोई ढिलाई बर्दाश्त नहीं होगी। श्री सिलावट ने कहा कि अस्पताल आने वाले हर मरीज के लिये बैड की व्यवस्था की जाए। साथ ही 24 घंटे मरीजों को भर्ती करने का पुख्ता सिस्टम बनाएँ।

जिला अस्पताल में अव्यवस्थाएं देख भड़के प्रभारी मंत्री, CMHO ने RMO को दिया नोटिस

प्रभारी मंत्री की नाराजगी के बाद CMHO डॉ मनीष शर्मा ने जिला चिकित्सालय मुरार के RMO डॉ आलोक पुरोहित को कारण बताओ नोटिस थमा दिया । अव्यवस्थाओं के बारे में बताते हुए सीएमएचओ डॉ मनीष शर्मा ने लिखा कि मरीजों का पंजीयन और सहायता केंद्र 8 बजे शुरू होना था जो नहीं हुआ जिससे मरीजों को परेशानी हुई, परिसर में पेयजल नहीं मिला, साफ़ सफाई नहीं मिली, वार्डों में बैड पर फटे हुए गद्दे थे जिनपर चादर नहीं थी इमरजेंसी में दवाइयां उपलब्ध नहीं थीं।

जिला अस्पताल में अव्यवस्थाएं देख भड़के प्रभारी मंत्री, CMHO ने RMO को दिया नोटिस

CMHO ने आगे लिखा कि इन अव्यवस्थाओं से प्रभारी मंत्री नाराज हुए और विभाग की छवि धूमिल हुई, इससे प्रतीत होता है कि आपके द्वारा अपने पदीय दायित्वों का निर्वहन ना कर लापरवाही बरती जा रही है, आपको स्पष्टीकरण देने के लिए तीन दिन का समय दिया जाता है, यदि आपका जवाब संतोषप्रद नहीं आता है तो आपकी दो वेतन वृद्धि असंचयी प्रभाव से रोकने का प्रस्ताव शासन को भेजा जायेगा।

साफ़ सफाई एजेंसी पर जुर्माना लगाने के निर्देश 

CMHO डॉ मनीष शर्मा ने सिविल सर्जन सह अस्पताल अधीक्षक को पत्र लिखकर कहा है कि जिला अस्पताल की साफ़ सफाई के लिए जिस एजेंसी को अनुबंधित किया गया है वो साफ़ सफाई पर ध्यान नहीं दे रही जिसके परिणाम स्वरुप आज अस्पताल परिसर में निरीक्षण के दौरान प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट को गंदगी मिली जिससे वे नाराज हुए इसलिए आप एजेंसी को नोटिस देकर 24 घंटे साफ़ सफाई कराने का नोटिस दें यदि एजेंसी ऐसा नहीं करती है तो उसपर 25 हजार रुपये का जुर्माना लगाकर सूचित मुझे करें।

ग्वालियर से अतुल सक्सेना की रिपोर्ट 


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News