अपहरण केस में पेशी से लौटते समय युवक ने खुद का गला काटा, हालत गंभीर

ग्वालियर । अपहरण के चार साल पुराने एक मामले में  जिला न्यायालय में  पेशी कर लौट रहे एक युवक ने ब्लेड से खुद का गला काटने की कोशिश की, घटना के समय साथ में मौजूद युवक की महिला साथी ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया जहाँ उसकी हालत गम्भीर बनी हुई है। युवक मुरैना के सबलगढ़ का रहने वाला है पुलिस ने परिजनों  को सूचना दे दी है। 
इंदरगंज थाना क्षेत्र स्थित जिला न्यायालय परिसर के बाहर  गुरुवार की शाम उस वक्त सनसनी फैल गई जब अपहरण के मामले में पेशी कर लौट रहे  अभिषेक रावत ने ब्लेड से अपने गले पर  कई वार कर खुद को घायल कर लिया। अभिषेक के साथ ही पेशी पर आई तनु नागर के मुताबिक वो पेशी से लौटते समय थोड़ा आगे थी उसे जब चीख पुकार सुनाई दी तो उसने मुड़कर देखा कि अभिषेक खून से लथपथ है उसके बाद उसने उसे जयारोग्य अस्पताल के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया । तनु का कहना है कि 4 साल पहले हुए अपहरण के मामले में अभिषेक रावत,  भरत शर्मा और वो स्वयं अभियुक्त हैं और उसी मामले में आज न्यायालय में पेशी पर आए हुए थे। तनु की माने तो अभिषेक शराब के नशे में था और केस को लेकर भरत आए कुछ बात कह रहा था तभी उसने खुद पर हमला कर लिया।  सूचन पर अस्पताल पहुंचे इंदरगंज थाना टी आई दीप सिंह सेंगर  का कहना है उसे अस्पताल से गंभीर युवक की जानकारी मिली थी। मोबाइल पर उसकी साथी तनु नागर ने घटना की जानकारी दी है उसने बताया कि चार साल पहले जनकगंज थाना क्षेत्र में हुए अपहरण में वो अभिषेक रावत और भरत शर्मा के साथ पेशी पर आए थे और लौटते समय अभिषेक ने खुद को ब्लेड मार लिए। तनु से हुई बातचीत के उसके आधार पर हमने मामला दर्ज कर जांच में ले लिया है। घायल अभिषेक की हालत ठीक नहीं है डॉक्टर्स के मुताबिक  उसे ब्लड की जरूरत है। हम उसका इलाज करा रहे हैं, यहाँ उसके साथ कोई नहीं है हमने परिजनों को सूचना दे दी है।