मोदी के जीवन को समर्पित प्रदर्शनी का उद्घाटन, बोले पवैया- “एक राजऋषि भारत का प्रधानमंत्री है”

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। बजरंग दल के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं मध्यप्रदेश के पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया ने प्रधानमंत्री नरेंद मोदी को राज ऋषि बताया है। उन्होंने ग्वालियर में कहा कि जब एक राजनेता और सन्यासी दोनों का जीवन एक हो जाता है दोनों के गुण मिल जाते हैं तो मैं कहता कि आज एक राज ऋषि भारत का प्रधानमंत्री है और ये गर्व की बात है।

दिवाली से पहले कर्मचारियों को बड़ी खुशखबरी, राज्य सरकार ने किए DA बढ़ोतरी के आदेश जारी

मोदी के जीवन को समर्पित प्रदर्शनी का उद्घाटन, बोले पवैया- "एक राजऋषि भारत का प्रधानमंत्री है"

भारतीय जनता पार्टी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्म दिन पूरे देश में मना रही है। जगह जगह कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं । ग्वालियर मेंभारतीय जनता पार्टी ने पीएम मोदी के व्यक्तित्व और कृतित्व को दर्शाती हुई एक प्रदर्शनी लगाई है। प्रदर्शनी का उद्घाटन पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया ने महावीर भवन कम्पू में किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पवैया ने कहा कि मोदी जी राजनेता के रूप में एक तपस्वी है, एक विलक्षण व्यक्ति हैं। वे बहुत हटकर अलग करने वाले एक राजनेता हैं। पवैया ने कहा कि मैं ऐसा मानता हूँ कि प्रजातंत्र में प्रधानमंत्री का पद जीता जा सकता है लेकिन करोड़ों लोगों के हृदय को जीतना बहुत कठिन है और ये काम केवल मोदी जी से ही संभव है।

जयभान सिंह पवैया ने कहा कि मोदी जी की एक सफलतम राजनेता की जो छवि है उसके अतिरिक्त उनका जो व्यक्तिगत जीवन है उसकी अभिनव यात्रा है उसमें कठिन तप, कठिन त्याग जब देखने को मिलता है और जब एक राजनेता और सन्यासी दोनों का जीवन जब एक हो जाता है जब दोनों के गुण मिल जाते हैं तो मैं कहता हूँ कि एक राज ऋषि भारत का प्रधानमंत्री है।

पवैया ने कहा कि लोग मोदी जी को गुजरात के सीएम और देश कर पीएम के नाते जानते हैं लेकिन ये उनकी गुजरात के सीएम से देश के पीएम तक की 20 साल की अखंड यात्रा है। एक गरीब का बेटा पीएम की कुर्सी तक की यात्रा करता चला गया ये संस्कार उनमें कहां से आये, ये संस्कार राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से आये। पवैया ने कहा कि मोदी जी कब प्रचारक रहे, कब सन्यासी बनने हिमालय चले गए, कब लौटकर संगठन का काम किया और देश के लोगों के हृदय में स्थान बनाया ये आज की पीढ़ी को जानना जरूरी है। उन्होंने कहा कि जब मोदी जी मप्र के प्रभारी थे और प्रवास पर ग्वालियर आते थे तो पड़ाव के पास रुकते थे उस समय वे हमारे नेताओं के भाषण छिपकर सुनते थे, फूलबाग मैदान में मेरे भाषण भी उन्होंने ऐसे ही सुने हैं। क्यों कि वे जानना चाहते थे कि हमारे नेता क्या कहते हैं और जनता उसे कैसे सुनती है ।

गौरतलब है कि भाजपा ने ग्वालियर में मोदी जी के जन्म दिन के मौके पर लगाई गई प्रदर्शनी मोदी जी के 20 वर्षों के जीवन पर आधारित है । यह उनके द्वारा किये गए कार्यो की प्रदशनी है । प्रदर्शनी में करीब 100 चित्रों में मोदी जी का संपूर्ण जीवन दिखाने का प्रयास किया गया है।

कार्यक्रम को सांसद विवेक नारायण शेजवलकर,,उर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर,भाजपा प्रदेश मंत्री मदन कुशवाह, भाजपा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य राकेश माहौर, भाजपा जिलाध्यक्ष कमल माखीजानी, चेंबर आफ कॉमर्स ग्वालियर अध्यक्ष विजय गोयल, पूर्व महापौर श्रीमती समीक्षा गुप्ता, रामबरन गुर्जर ने भी संबोधित किया और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिवस पर बधाई देते हुए उनके द्वारा किये गये जनहितैषी कार्यो की प्रशंसा की l

कार्यक्रम में प्रमुख रूप से प्रदेश कार्यसमिति सदस्य ओमप्रकाश शेखावत, प्रदेश सह मीडिया प्रभारी जवाहर प्रजापति, रामवरण सिह गुर्जर,युवा मोर्चा प्रदेश उपाध्यक्ष विवेक चौहान, चित्र प्रदशनी के प्रभारी राजू सेंगर, सह प्रभारी दीपक अग्रवाल, सुघर सिह पवैया, सतीश बोहरे,मनोज तोमर, बिरजू शिवहरे , विनोद अष्टैया , प्रतीक तिवारी , यशराज तोमर, सुमित शर्मा सहित अनेक कार्यकर्ता उपस्थित थे।

मोदी के जीवन को समर्पित प्रदर्शनी का उद्घाटन, बोले पवैया- "एक राजऋषि भारत का प्रधानमंत्री है"