भ्रष्टाचार के आरोप वाले इंस्पेक्टर्स को नहीं मिलेगी थाने की कमान, बैठेंगे ऑफिस में

ग्वालियर। पुलिस महकमे में कसावट लाने और जनता में उसकी छवि सुधारने का प्रयास करने वाले ग्वालियर जोन के आईजी(एडीजीपी) राजाबाबू सिंह ने एक आदेश जारी किया है। आदेश में कहा गया है कि जिन इंस्पेक्टर्स पर भ्रष्टाचार के आरोप हैं और उनपर विभागीय जांच चल रही है उन्हें थानों की कमान नहीं दी जाये। उन्हें या तो ऑफिस में पदस्थ रखा जाये या लाइन में। 

दरअसल ग्वालियर जोन में आने वाले जिलों में कई थाने ऐसे हैं जिनमें पदस्थ थाना प्रभारियों पर भ्रष्टाचार के आरोप हैं और विभागीय जांच चल रही है। जानकारी के अनुसार ग्वालियर जोन में ग्वालियर जिले में सबसे ज्यादा 9 थाना प्रभारी ऐसे हैं जिनकी विभागीय जांच चल रही है इसके अलावा शिवपुरी में 5,गुना में 4 और अशोकनगर में 2 थाना प्रभारियों पर विभागीय जांच लंबित है।  आईजी का मानना है कि  इससे जनता का पुलिस के प्रति विश्वास कम होता है। उन्होंने जोन से सभी चारों जिले के पुलिस अधीक्षकों को पत्र लिखकर ऐसे इंस्पेक्टर्स को थानों से हटाने के निर्देश दिए हैं। आईजी के इस पत्र के बाद से पुलिस महकमे में अफरा तफरी का माहौल है।