बजरंग दल पर बैन लगाने की कांग्रेस की घोषणा पर भड़के जयभान सिंह पवैया, कह दी ये बड़ी बात

Atul Saxena
Published on -

Jaibhan Singh Pawaiya’s reply to Congress : कांग्रेस ने कर्नाटक चुनावों के लिए जारी किये अपने घोषणा पत्र में  बजरंग दल पर प्रतिबंध लगाने का वादा कर हिंदूवादी संगठनों को भड़का दिया है। कांग्रेस के इस ऐलान का पूरे देश के हिंदूवादी संगठन विरोध कर रहे हैं, इस बीच बजरंग दल के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष , भाजपा के वरिष्ठ नेता जयभान सिंह पवैया का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने इसे कांग्रेस का बहुत घिनौना हथकंडा बताया है।

ग्वालियर में मीडिया से बात करते हुए प्रखर हिंदूवादी नेता जयभान सिंह पवैया ने कहा कि कर्नाटक में कांग्रेस ने जो कहा है कि उनकी सरकार बनने पर वे PFI और बजरंग दल जैसे संगठनों पर बैन लगा देंगे तो देश का हर पढ़ा लिखा व्यक्ति जानता है कि PFI पर तो केंद्र सरकार ने पहले ही बैन लगा रखा है।

PFI देशद्रोही संगठन, बजरंग दल से कैसी तुलना ?

पवैया ने कहा कि PFI एक आतंकवादी संगठन है, एक देशद्रोही संगठन है, देश तोड़ने, देश विरोधी गतिविधियों में शामिल रहता है इसके प्रमाण मिले है इसके बाद प्रतिबंध लगाया है। अब जो प्रतिबंधित है उसपर क्या प्रतिबंध लगायेंगे? उन्होंने कहा कि इस घोषणा पत्र को केवल कर्नाटक की बात मानकर नहीं चलें, कांग्रेस की मानसिकता को समझें।

ये घोषणा पत्र आतंवाद समर्थकों को एक सीधा सन्देश हैं 

वरिष्ठ भाजपा नेता पवैया ने कहा कि आप घोषणा पत्र को जानकर ये नहीं कह सकते कि कर्नाटक के नेताओं ने इसे बनाया है, ये कांग्रेस की राजमाता के मार्गदर्शन में ही तैयार हुआ हुआ होगा।  और ये पूरे भारत के आतंकवादियों, आतंकवाद समर्थक वोटबैंक को कांग्रेस का सीधा सन्देश है कि अगर आप अहमें मजबूत करोगे तो कर्नाटक सहित देश में टुकड़े टुकड़े गैंग से जुड़े लोग अपने आपको सुरक्षित महसूस करेंगे।

1996 में हिजबुल की धमकी का घटनाक्रम किया साझा 

बजरंग दल से जुड़ा एक पुराना घटनाक्रम बताते हुए बजरंग दल के पूर्व राष्ट्रीय संयोजक जयभान सिंह पवैया ने कहा कि 1996 में जब हिजबुल मुजाहिद्दीन ने धमकी दी थी कि कश्मीर में अमरनाथ यात्रा नहीं निकलने दी जाएगी , बंदूक के बल पर रोक दी जाएगी तब में बजरंग दल से जुड़े 50 हजार युवाओं को लेकर कश्मीर घाटी में गया था, मैं और वे सभी बजरंगी युवा हिजबुल के टारगेट पर थे आप ऐसे युवाओं की तुलना पाक परस्त, देश द्रोही, गद्दारों के साथ कर रहे है, ये कौन सी राजनीति है?

रावण ने हनुमान को छेड़ा था तो भुगतना भी उसे ही पड़ा

पूर्व मंत्री पवैया ने कहा कि कर्नाटक के इस घोषणा पत्र के बाद कांग्रेस एक बार फिर बेनकाब हो गई है, , कर्नाटक में तो उसकी हार तय है , अब कर्नाटक का हर देशभक्त कह रहा है मैं बजरंगी हूँ। पवैया ने कहा हमारे रामायण बताती है कि रावण की लंका को जलाने के लिए हनुमान जी नहीं गए थे, किसी और ने लंका को नहीं जलाया, जब हनुमान जी की पूँछ में आग लगाकर रावण ने उन्हें छेड़ दिया तो भुगतना रावण को ही पड़ा था।

कांग्रेस की सोच – देश विरोधियों के वोट बैंक से देश पर राज कर लेंगे 

जयभान सिंह पवैया ने कहा कि कांग्रेस का मतलब आज एक खानदान है, कांग्रेस सोचती है कि हम देश विरोधियों के वोट बैंक से देश पर राज कर लेंगे क्योंकि उसके पास अब देशभक्तों का वोट लेने के लिए कोई मुद्दा ही नहीं बचा। जो भारत को चाहने वाले लोग हैं वो कांग्रेस की इस तरह की हरकतों पर कैसे उसपर विश्वास कर लेंगे ?

कर्नाटक में कांग्रेस की हार निश्चित है 

पवैया ने कहा कि ये विनाशकाले विपरीत बुद्धि वाली बात है, कर्नाटक में ये हथकंडा बहुत घिनौना है , जनता सब समझ रही है। उन्होंने कहा कि आप क्या बजरंग दल पर बैन लगाओगे ? देश के लिए प्राण देने का इतिहास रहा है बजरंग दल का देश विरोध में एक लाइन नहीं मिलेगी ये देश के लोगों को मालूम है, उन्होंने कहा कि पहले भी विश्व हिन्दू परिषद् और RSS जैसे संगठनों पर बैन लगाने का कांग्रेस प्रयास कर चुकी है लेकिन कोर्ट की दहलीज पर मात खा चुकी है। इसलिय एकर्नातक में भाजपा की सरकार बनेगी, जनता कांग्रेस को नकार चुकी है ।

ग्वालियर से अतुल सक्सेना की रिपोर्ट 


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News