Gwalior: बाजार बंद-सड़कें सूनी, सेनेटाइजर स्प्रे कर रहा निगम अमला

ग्वालियर।अतुल सक्सेना। कोरोना वायरस से लड़ने के लिए प्रधानमंत्री की जनता कर्फ्यू की अपील ग्वालियर में प्रभावी दिखाई दे रही है। लोग सुबह से सड़कों पर नहीं निकले। इक्का दुक्का लोगों के अलावा, पत्रकार, पुलिस और प्रशासन के अधिकारी कर्मचारी ही दिखाई देरहे है। उधर नगर निगम का अमला शहर में सेनेटाइज़र स्प्रे कर शहर को सुरक्षित कर रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जनता कर्फ्यू की अपील के बाद ग्वालियर जिला दंडाधिकारी कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने ग्वालियर में 22 मार्च से 24 मार्च तक लॉक डाउन घोषित कर दिया है। आज रविवार को प्रभावी जनता कर्फ्यू का असर सुबह से ही देखने को मिल रहा है। सुबह सुबह जगाने वाले, दूधवाले, सब्जी वाले , पेपर वाले तक की आवाज कई जगह सुनाई नहीं दी। अधिकांश मोहल्लों और कॉलोनियों में तो नगर निगम की कचरा गाडिया नहीं पहुंची और जहाँ पहुंची वहाँ लोग कचरा डालने नहीं पहुंचे। रोज काम कर अपना परिवार पालने वाले श्रमिकों भी जनता कर्फ्यू में बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं। शहर मे महाराज बाड़ा, हजीरा, गोला का मंदिर, दौलतगंज सहित अन्य कई क्षेत्रों में जुटने वाले दिहाड़ी श्रमिक आज वहाँ नहीं पहुंचे। सड़कों के सूने रहने और प्रतिष्ठानों, अस्पतालो, दुकानों के बंद होने का लाभ उठाते हुए नगर निगम के कर्मचारियों ने सेनेटाइज़र स्प्रे कर उन्हें संक्रमण मुक्त किया। प्रशासन और पुकीस के वरिष्ठ अधिकारी लगातार राउंड पर हैं। पुलिस फोर्स सड़कों पर तैनात है।