ग्वालियर। जीवाजी विश्वविद्यालय ने नवनिर्मित विवादित मल्टी आर्ट कॉम्प्लेक्स के शुभारम्भ पर कुहासा छा गया है। प्रस्तावित कार्यक्रम के अनुसार राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 18 दिसंबर को इसका उद्घाटन करेंगे। लेकिन बड़ी बात ये है कि जिला प्रशासन के पास अभी तक राष्ट्रपति का मिनिट टू मिनिट कार्यक्रम नहीं पहुंचा है। जिससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि राष्ट्रपति का दौरा टल सकता है।

जीवाजी विश्व विद्यालय में लगभग 24 करोड़ रुपए की लागत से बनकर तैयार मल्टी आर्ट कॉम्प्लेक्स को प्रदेश की किसी भी शासकीय विश्व विद्यालय का सबसे बड़ा बताया जा रहा है। हालांकि ये कॉम्प्लेक्स निर्माण की शुरुआत से ही विवादों में आ गया था। कार्य परिषद् सदस्यों ने कार्य की गुणवत्ता, बढ़ी हुई लागत और अनुबंध की शर्तों के उल्लंघन को लेकर आरोप लगाए थे लेकिन विश्वविद्यालय प्रबंधन ने इसे नजरअंदाज कर इसके शुभारम्भ की तैयारी शुरू कर दी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के हाथों इसके शुभारम्भ का कार्यक्रम निर्धारित कर लिया। तय कार्यक्रम के अनुसार राष्ट्रपति 18 दिसंबर को ग्वालियर आकर जेयू के मल्टी आर्ट कॉम्प्लेक्स का उद्घाटन करेंगे। राष्ट्रपति यहाँ दो घंटे रुकेंगे और यूथ फेस्टिवल का शुभारम्भ करेंगे। राजभवन भोपाल से निर्देश मिलने के बाद जीवाजी विश्वविद्यालय ने उन्हें कार्यक्रम भेज दिया। उधर संभाग आयुक्त एमबी ओझा, कलेक्टर अनुराग चौधरी और पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने कई बार तैयारियों का जायजा लिया। कुलपति संगीता शुक्ला लगातार तैयारियों पर नजर रख रहीं है। लेकिन इन तैयारियों पर अब विराम लग सकता है क्योंकि अभी तक राष्ट्रपति का मिनिट टू मिनिट कार्यक्रम ना तो जिला प्रशासन को मिला है और ना ही जीवाजी विश्वविद्यालय को, जिससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि राष्ट्रपति का दौरा टल सकता है या निरस्त हो सकता है। क्योंकि प्रोटोकॉल के हिसाब से महामहिम की यात्रा से पहले एसपीजी सहित अन्य सुरक्षा एजेंसी और राष्ट्रपति भवन कार्यालय के अफसर व्यवस्थाओं का जायजा लेने पहुँचते है और आयोजकों सहित स्थानीय प्रशासन से मीटिंग करते हैं लेकिन तय कार्यक्रम के हिसाब से कुछ घंटे ही आगमन के लिए शेष बचे है और अब तक यहाँ कोई नहीं आया जिससे असमंजस की स्थिति है। हालांकि जेयू के जनसंपर्क अधिकारी प्रोफ़ेसर केशव सिंह का कहना है कि बातचीत हो रही है। और हम तैयारी कर रहे हैं उधर संभाग आयुक्त और कलेक्टर का भी कहना है कि हमारी तैयारी पूरी है लेकिन हमें अभी मिनिट टू मिनिट कार्यक्रम नहीं मिला है इसलिए अधिक बताने की स्थिति में नहीं हैं।