ज्योतिरादित्य ने पिता माधवराव को अर्पित की पुष्पांजलि, कहा- मेरा लक्ष्य राजनीति नहीं जनसेवा

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। पूर्व केंद्रीय मंत्री कैलाशवासी माधवराव सिंधिया की जयंती पर ग्वालियर में कटोरा ताल रोड स्थित सिंधिया राजवंश की छत्री पर शहर के लोगों ने जाकर उन्हें पुष्पांजलि अर्पित की। राज्यसभा सांसद एवं कैलाशवासी माधवराव सिंधिया के पुत्र ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी पिता को पुष्प अर्पित किये।

ज्योतिरादित्य सिंधिया अपने दो दिवसीय दौरे पर बुधवार रात निजामुद्दीन एक्सप्रेस से ग्वालियर पहुंचे। रेलवे स्टेशन से वे सीधे अपने परिवार की छत्री पहुंचे जहाँ उन्होंने पिता माधवराव सिंधिया की प्रतिमा और तस्वीर पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। सिंधिया यहाँ आयोजित भजन संध्या में शामिल हुए। कार्यक्रम में सांसद विवेक नारायण शेजवलकर, ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, राज्यमंत्री ओपीएस भदौरिया, पूर्व मंत्री माया सिंह, पूर्व मंत्री अनूप मिश्रा, पूर्व मंत्री नारायण सिंह कुशवाहा सहित कई गणमान्य लोग मौजूद रहे। सिंधिया ने यहाँ धर्म गुरुओं का शॉल, श्रीफल से सम्मान भी किया।

ज्योतिरादित्य ने पिता माधवराव को अर्पित की पुष्पांजलि, कहा- मेरा लक्ष्य राजनीति नहीं जनसेवा

इससे पूर्व ग्वालियर रेलवे स्टेशन पर मीडिया से बात करते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि राजनीति जनसेवा का माध्यम होनी चाहिए। लक्ष्य जनसेवा होना चाहिए और माध्यम राजनीति होना चाहिए। जनसेवा की सोच और विचारधारा के साथ हम चलेंगे तो जनकल्याण विकास का लक्ष्य प्राप्त करेंगे। सिंधिया मे कहा कि आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी हमें कार्यक्रम में मार्गदर्शन दिया है, कि हम जनता की सेवा में लगें। संसद में और संसद के बाहर हमारी सोच विकास, प्रगति और सकारात्मक होना चाहिए। उन्होंने तटस्थ रहकर जनता की सेवा में जुटने की बात कही है। राहुल गांधी के बयान पर सिंधिया ने कहा मैंने जो कहना था वह कह दिया। उधर नगरीय निकाय चुनाव में ओवैसी के मैदान में आने की बात पर सिंधिया ने कहा कि ये प्रजातंत्र है जिसे चुनाव लड़ना है वह लड़े उसका स्वागत है।