ग्वालियर में कन्हैया कुमार का विरोध, हिन्दू सेना कार्यकर्ता ने फेंकी स्याही

-Kanhaiya-Kumar-opposed-in-Gwalior-Hindu-army-worker-threw-ink

ग्वालियर। विवादित बयानों से चर्चा में  रहने वाले जे एन यू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार  के ऊपर ग्वालियर में हिन्दू सेना के कार्यकर्ता ने स्याही फेंक दी। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। वहीँ कार्यक्रम में पहुंचकर कन्हैया कुमार ने पीएम मोदी और सीएम शिवराज पर जमकर भड़ास निकाली।

चेंबर ऑफ कॉमर्स सभागार में दलित शक्तिवेश संस्था द्वारा आयोजित संविधान बचाओ यात्रा का शुभारम्भ करने आये विवादित नेता कन्हैया कुमार , गुजरात के विधायक जिग्नेश मेवानी और जे एन यू के छात्र नेता अंशुमन त्रिवेदी आये थे। कल हिन्दू सेना द्वारा किये गए विरोध और चेतावनी के बाद यहाँ  भारी संख्या में पुलिस बल तैनात था। लेकिन जैसे ही  कन्हैया कुमार अन्य नेताओं के साथ वहां पहुंचे वहां छिप कर बैठे हिन्दू सेना के कार्यकर्ता मुकेश पाल ने उसके ऊपर स्याही फेंक दी। स्याही फेंकते ही पुलिस ने मुकेश को गिरफ्तार कर लिया। 

इससे पहले एहतियात के तौर पर पुलिस ने प्रदर्शन के लिए जीवायएमसी के सामने प्रदर्शन के लिए तैयार खड़े हिंदू सेना के 20 से अधिक कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था लेकिन मुकेश पुलिस से नजर बचाकर कार्यक्रम स्थल पर पहुँच गया। 

उधर मंच पर पहुँचते ही कन्हैया कुमार ने सबसे पहले जय जय भीम के नारे लगाये और फिर बाबा साहब के चित्र पर पुष्प अर्पित कर अपना संबोधन शुरू किया। कन्हैया ने अपने भाषण में मोदी सरकार और शिवराज सरकार पर जमकर निशाना साधा। कन्हैया ने मतदाताओं से कहा कि वोट जरुर दीजिये लेकिन इसबार सोच समझकर। उन्होंने कहा कि हम अपने वोट की ताकत से ही संविधान विरोधी सरकारों को हटा सकते है। 

पुतला फूंके जाने और स्याही फेंके जाने पर तंज कसते हुए कन्हैया कुमार ने कहा कि पुतले जलाने हो तो मोदी और शिवराज के जलाओ मैं तो साधारण आदमी हूँ। भाषण का समापन करते हुए कन्हैया ने जोशीले अंदाज में कहा कि हमें कोई कितना भी डराने की  कोशिश करेंगे हम डरने वाले नहीं हैं।