जनता से मांगी माफिया की जानकारी, शिकायत पेटी लगी, इन माध्यमों से दे सकते हैं डिटेल

ग्वालियर। मध्यप्रदेश सरकार के माफिया विरोधी अभियान के बाद ग्वालियर संभाग में प्रशासनिक अमला सक्रिय हो गया है। संभाग आयुक्त ने कार्रवाई के लिए 6 सदस्यीय कमेटी बना दी है। वहीं कलेक्टर अनुराग चौधरी ने भी जिला स्तर पर 9 सदस्यीय कमेटी बनाकर सख्त कार्रवाई के संकेत दे दिए हैं। कलेक्टर ने माफिया के बारे में जनता से भी राय मांगी है। इसके लिए शिकायत पेटी लगवाई गई है साथ ही माफिया के बारे में मोबाइल , व्हाट्स एप, ई मेल पर भी जानकारी दी जा सकती है। 

माफिया विरोधी अभियान के तहत प्रशासन ने माफिया को 11 तरह की केटेगरी में डिवाइड किया है। इसमें भू माफिया, रेत माफिया, पत्थर माफिया, सूदखोर, मिलावटखोर, जमाखोर, सहकारिता, शराब माफिया, मादक पदार्थ माफिया, शिक्षा माफिया और चिकित्सा माफिया शामिल हैं। कलेक्टर अनुराग चौधरी से इसके लिए एंटी माफिया सेल का गठन किया है जिसका प्रभारी अपर कलेक्टर अनूप कुमार सिंह को बनाया है। लोग इनके मोबाइल नंबर 8290172489 पर संपर्क कर सकते हैं साथ ही सेल के अन्य अधिकारियों के मोबाइल पर ,व्हाट्स एप और मेल पर भी शिकायत और सुझाव दिए जा सकते हैं। इसके अलावा कलेक्ट्रेट और एसपी ऑफिस के गेट पर एक शिकायत पेटी भी रखवाई है जिसमें शहर के लोग माफिया के बारे में शिकायत और सुझाव दे सकते हैं। कलेक्टर अनुराग चौधरी के मुताबिक एंटी माफिया सेल की बैठक रोज होगी,शिकायतों का परीक्षण अधिकारी करेंगे और शिकायत सही पाई गई तो माफिया के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। कलेक्टर ने स्पष्ट किया है कि माफिया के बारे में जानकारी देने वाले की पहचान गुप्त रखी जाएगी। उधर ग्वालियर जोन के आईजी (एडीजीपी)  राजा बाबू सिंह का कहना है कि हमें ग्वालियर अंचल को माफिया मुक्त बनाना है । हमने अभी ऐसे तीन दर्जन नाम चिन्हित किये हैं इसमें भू माफिया से लेकर कर्ज देकर संपत्ति हड़पने वाले सूदखोर तक शामिल हैं। किसी भी तरह का माफिया अब यहाँ पनपने नहीं देंगे। वहीं कलेक्टर अनुराग चौधरी का कहना है कि हमने अधिकारियों के नंबर सार्वजनिक कर दिए हैं शहर का कोई भी नागरिक इन नंबरों पर शिकायत कर सकता है उनका नाम गोपनीय रखा जायेगा।