डबरा। लोकायुक्त टीम ने जनशिक्षा केंद्र में पदस्थ डाटा एंट्री ऑपरेटर और कार्यालय में पदस्थ चपरासी को रिश्वत लेते रंगेहाथों पकड़ा है| समूह संचालक की शिकायत पर लोकायुक्त पुलिस ने यह कार्रवाई की है| खाद्यान कूपन के रिकॉर्ड देने के एवज में यह रिश्वत मांगी जा रही थी|

जानकारी के मुताबिक ग्वालियार लोकायुक्त पुलिस ने बीआरसीसी कार्यालय डबरा में पदस्थ डाटा एंट्री ऑपरेटर अतुल गुप्ता और भृत्य नरेन्द्र पिप्पल को 3 हजार रुपए की रिश्वत लेते बुधवार की दोपहर को रंगे हाथों गिरफ्तार किया। देवरा गांव के बजरंग स्वसहायता समूह संचालक के बेटे ब्रजेन्द्र रावत से खाद्यान कूपन के रिकॉर्ड देने के एवज में जन शिक्षा केन्द्र में पदस्थ डेटा कम्प्यूटर ऑपरेटर एवं कार्यालय में पदस्थ चपरासी बीआरसी धर्मेंद्र पाठक के नाम पर तीन हजार की रिश्वत मांग रहे थे, जिसके बाद परेशान समूह संचालक के बेटे विजेंदर रावत ने इसकी शिकायत ग्वालियर लोकायुक्त पुलिस से कीथी।

शिकायत की तस्दीक के बाद लोकायुक्त पुलिस ने केमिकल लगे पैसे देकर फरयादी विजेंदर रावत को जन शिक्षा केन्द्र भेजा | जैसे ही विजेन्दर ने डेटा एंट्री कम्प्यूट ऑपरेटर व चपरासी को रिश्वत की रकम दी, लोकायुक्त टीम ने आरोपियों को रंगे हाथों पकड़ लिया । लोकायुक्त पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।