महाराज-शिवराज की जोड़ी बन सकती है भाजपा में बड़े विरोध की वजह, सदस्यता समारोह ना कर दे कुल में कलह

ग्वालियर, अतुल सक्सेना

ज्योतिरादित्य सिंधिया (jyotiraditya scindia) समर्थकों को भाजपा (bjp) में लाने के लिए भारतीय जनता पार्टी ग्वालियर में तीन दिवसीय सदस्यता ग्रहण समारोह करने जा रही है। ग्वालियर में आयोजित इस संभागीय सदस्यता अभियान को लेकर सिंधिया समर्थकों में खासा उत्साह है लेकिन भाजपा के वरिष्ठ नेताओं में नाराजगी है। वजह है कार्यक्रम से उनका नाम गायब होना। कुछ बड़े नेताओं ने इसे लेकर खुलकर अपनी नाराजगी जाहिर की है तो किसी ने बात करने से इंकार कर दिया है। उधर भाजपा नेता दबी जुबान में कह रहे हैं कि शिवराज और महाराज को ही भाजपा चलानी है तो हमारी क्या जरूरत। नेताओं की इन बातों से लग रहा है कि भाजपा का ये सदस्यता अभियान कहीं कुल में कलह का कारण ना बन जाए।

भारतीय जनता पार्टी 22,23,24 अगस्त को ग्वालियर में अपनी पार्टी का सदस्यता अभियान (membership campaign) करने जा रही है या यूँ कहें कि सिंधिया समर्थकों को भाजपा में शामिल कराने के लिए भाजपा ग्वालियर में संभागीय कार्यक्रम कर रही है। तीन दिवसीय आयोजन में ग्वालियर चंबल संभाग की सभी विधानसभाओं के कांग्रेस कार्यकर्ता (congress) और सिंधिया समर्थक (scindia supporters) भाजपा में शामिल होंगे। आयोजन को लेकर सिंधिया समर्थकों में काफी उत्साह है लेकिन भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं में जोश दिखाई नहीं दे रहा।

भाजपा के बड़े नेता नाराज! हो सकता है बवाल

भारतीय जनता पार्टी के बड़े नेता इस आयोजन से नाखुश और नाराज दिखाई दे रहे हैं। जानकार सूत्र बताते हैं कि इसकी वजह सिंधिया के भाजपा में आने के बाद से की जा रही उनकी उपेक्षा है। प्रमाण देते हुए भाजपा के लोग तीन दिवसीय इस आयोजन की अधिकृत सूचना दिखा रहे हैं । मप्र भाजपा के प्रदेश कार्यालय मंत्री सत्येंद्र भूषण सिंह ने जो कार्यक्रम जारी किया है उसमें स्पष्ट लिखा है कि 22, 23 और 24 को होने जा रहे तीन दिवसीय सदस्यता ग्रहण समारोह में प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया शामिल होंगे। अधिकृत पत्र को पढ़ने के बाद बड़े नेता और उनके समर्थकों का कहना है कि इन चार नेताओं के अलावा किसी को आमंत्रित नहीं किया गया ये स्पष्ट है। और यही कारण है कि भाजपा के बड़े नेता आयोजन को लेकर नाराज हैं।

अनूप मिश्रा ने कहा- शायद मैं नेता नहीं हूँ, पवैया ने बात नहीं की

खास बता ये है कि ग्वालियर चंबल के कार्यकर्ताओं के नाम पर सदस्यता ग्रहण समारोह भारतीय जनता पार्टी कर रही है लेकिन अभी तक की जानकारी के मुताबिक इसमें ग्वालियर चंबल संभाग के ही बड़े नेताओं को आमन्त्रित नहीं किया गया है। जिसके चलते पूर्व मंत्री अनूप मिश्रा, माया सिंह, जयभान सिंह पवैया, नारायण सिंह कुशवाह, रुस्तम सिंह, लाल सिंह आर्य आदि नाराज हैं। हालांकि इनमें से अधिकांश नेता स्पष्ट रूप से कुछ नहीं कह रहे लेकिन उनके समर्थक उनकी नाराज होने की बता बता रहे हैं। एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ ने जब अनूप मिश्रा (anoop mishra) से इस विषय में बात की तो उन्होंने कहा कि मैं अभी इंदौर में हूँ लेकिन मेरे पास अभी तक आयोजन को लेकर कोई आमंत्रण पत्र नहीं आया है और यदि मुझे नहीं बुलाया जायेगा तो मैं नहीं जाऊंगा। वरना इच्छा रहती है कि अपने नेता आते हैं तो उनका स्वागत किया जाए, लेकिन मैं तो एक साधारण सा कार्यकर्ता हूँ नेता नहीं हूँ शायद पार्टी ऐसा मानती होगी। उधर जब पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया (jaybhan singh pavaiya) से इस विषय में बात करने का प्रयास किया तो उनके छोटे भाई मुन्ना पवैया ने फोन उठाया और विषय पूछकर कहा कि दादा यानि पवैया जी इस विषय में कोई बात नहीं करना चाहते। कदाचित् अन्य बड़े नेताओं का भी यही मत गई वो आयोजन में आमंत्रण को लेकर मीडिया के आमने कुछ भी खुलकर नहीं बोल रहे हैं लेकिन उनके समर्थक और नजदीकी लोग कह रहे हैं कि वे नाराज हैं।