डबरा| यशवंत श्रीवास्तव| मुख्यमंत्री कमलनाथ के एंटी माफिया अभियान का बड़ा असर ग्वालियर जिले के बिलौआ में देखने को मिला| यहां प्रशासन ने खनन माफिया पर 16 करोड़ 5 लाख का ना सिर्फ जुर्माना किया साथ ही थाने में उसके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई है| पूरा मामला काली गिट्टी के अवैध उत्खनन से जुड़ा है यह अब तक की प्रशासन की सबसे बड़ी कार्रवाई बताई जा रही है।

आपको बता देंगे डबरा के बिलौआ में काली गिट्टी के वैध और अवैध आधा सैकड़ा से अधिक क्रैशर संचालित हैं जिनसे प्रतिदिन हजारों टन गिट्टी का परिवहन होता है यह पूरी कार्यवाही ओम स्टोन क्रेशर के संचालक लक्ष्मण चौरसिया पर की गई है चोरसिया अपनी स्वीकृत लीज के अलावा शासकीय भूमि लगभग 1.7 हेक्टर में से अवैध उत्खनन कर रहा था जिसकी जांच डबरा एसडीएम ने की और जिलाधीश के पास प्रस्ताव बनाकर भेज दिया प्रशासन ने आज माइनिंग इंस्पेक्टर दीपक सक्सेना की शिकायत पर केसर संचालक के खिलाफ चोरी का मामला दर्ज करते हुए उस पर 16 करोड़ पचास लाख का जुर्माना भी लगाया है।

बिलौआ में कुछ ही दिन पूर्व महिला बाल विकास मंत्री इमरती देवी सुमन द्वारा एक पत्र लिखकर सभी क्रेशरों को बंद करा दिया गया था और उस समय लोगों के स्वास्थ्य का हवाला दिया गया था और प्रशासन ने जांच की बात कही थी| लेकिन क्रेशर संचालकों के राजनीतिक रसूख के बाद यह क्रेशर बिना जांच के शुरू हो गए फ़िलहाल प्रशासन लगातार इस तरीके की कार्रवाई की बात कर रहा है।