अघोषित कटौती: मंत्री-विधायक अफसरों पर बरसे, दी चेतावनी-अब होगा एक्शन

Minister-MLA-angry-on-officers-warns-will-now-be-action

ग्वालियर। शहर में लगातार हो रही घोषित और अघोषित कटौती से जनता ही नहीं मंत्री और विधायक भी होने लगे। प्रदेश के कैबिनेट मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने शहर के दोनों कांग्रेसी विधायकों के साथ बिजली कम्पनी के अफसरों की क्लास ली । मंत्री और विधायकों ने तल्ख़ लहजे में कहा कि अब बहानेबाजी नहीं चलेगी,कटौती बंद करो। हालाँकि अफसरों का कहना था कि पिछले 8 महीनों से मेंटेनेंस नहीं हुआ इसलिए शट डाउन लेने से समस्या हो रही है। लेकिन सारी बातें सुनने के बाद भी मंत्री प्रद्युम्न सिंह ने चेतावनी दी कि अब यदि अघोषित कटौती हुई तो कार्रवाई तय समझना।

प्रदेश के खाद्य मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ग्वालियर पूर्व विधायक मुन्नालाल गोयल,ग्वालियर दक्षिण विधायक प्रवीण पाठक और समर्थकों के साथ बिजली कम्पनी के कार्यालय रोशनी घर पहुंचे । उन्होंने कम्पनी के अफसरों को तत्काल मीटिंग के लिए बुलाया और शहर में की जा रही बिजली के लिए फटकार लगाईं। करीब एक घंटे तक मंत्री और विधायकों ने अफसरों से बिजली कटौती के बारे में जानकारी ली।  बिजली कम्पनी के अफसरों ने कहा कि वे कटौती नहीं कर रहे हैं बल्कि में मेंटेनेंस के लिए शट डाउन ले रहे हैं। अफसरों  ने कहा कि पिछले आठ महीनों से मेंटेनेंस के लिए मंजूरी नहीं मिल रही थी। इस कारण 33 केवी,11 केवी,एलटी लाइन और ट्रांसफार्मर्स से लेकर सब स्टेशन के उपकरणों का मेंटेनेंस करना जरूरी हो गया है।  उन्होंने कहा कि हम निर्धारित शेड्यूल के हिसाब से ही काम कर रहे हैं जो 30 जून तक करेंगे। अफसरों की बात सुनने के बाद मंत्री तोमर ने चेतावनी देते हुए कहा कि अब यदि कटौती हुई तो AE और JE के खिलाफ कार्रवाई तय समझना। खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री  प्रद्युम्न सिंह तोमर ने ये भी कहा कि शहर में घोषित विद्युत कटौती के अतिरिक्त अघौषित कटौती नहीं होना चाहिए। किन्हीं कारणों से विद्युत आपूर्ति प्रभावित होती है तो उसे तत्परता से चालू करने की कार्रवाई की जाए। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को यह भी निर्देशित किया है कि घोषित विद्युत कटौती का कार्यक्रम फेसबुक, वॉट्सएप, समाचार पत्रों में प्रकाशित करने के साथ-साथ नगर निगम द्वारा ग्वालियर में स्थापित किए गए इलेक्ट्रोनिक होर्डिंग पर भी प्रदर्शित किया जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here