सिंधिया के साथ बैठक में मंत्री विधायकों ने लिया फैसला, शहर की चारों एंट्री पर बनेंगे भव्य गेट

ग्वालियर। पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं कांग्रेस महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कलेक्ट्रेट में मंत्री,विधायकों,जन प्रतिनिधियों के साथ बैठक की। कलेक्ट्रेट में आयोजित बैठक में कलेक्टर और निगम आयुक्त के साथ साथ अन्य प्रशासनिक अधिकारी मौजूद थे । बैठक में शहर से जुड़े कई विकास कार्यों पर अंतिम निर्णय लिया गया। बैठक में तय किया गया कि शहर की चारों एंट्री पर भव्य और आकर्षक गेट बनाये जायेंगे। जो पर्यटकों को आकर्षित करेंगे।

कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में सिंधिया के साथ खाद्य मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी,विधायक मुन्नालाल गोयल, विधायक प्रवीण पाठक सहित प्रशासनिक अधिकारी मौजूद थे इस मौके पर स्मार्ट सिटी कम्पनी ने अपने प्रोजेक्ट का प्रजेंटेशन भी दिया। बैठक के बाद सिंधिया ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि शहर के हमने तय किया है कि यातायात के दबाव को कम करने के लिये शहर के बीच 21 जगह पार्किंग बनाई जाएगी। बनेगी। इसके अलावा स्वर्ण रेखा नदी और मुरार नदी पर  रिंग रोड बनाने का भी निर्णय लिया गया । उन्होंने बताया कि शहर की जर्जर सड़कों  की समीक्षा भी की गई है  इनको  सुधरने के लिए नगर निगम और पीडब्ल्यूडी दोनों को जिम्मेदारी सौंपी गई है।

सिंधिया ने बताया  कि शहर की सफाई व्यवस्था के लिये  पायलट प्रोजेक्ट बनाये जाने पर सहमति हुई है इसके तहत 34 करोड़ के बजट का प्रस्ताव सरकार को भेजेंगे । उन्होंने बताया कि  ग्वालियर के सौंदर्यीकरण और पर्यटकों को आकर्षित करने के लिये शहर के बाहर चारों इट्रेंस पर भव्य और आकर्षक एंट्री गेट बनेंगे। अमृत योजना के बारे में सिंधिया ने कहा कि 350 करोड़ रुपए की पानी और सीवर की यह योजना मार्च 2020 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा है। सिंधिया ने जानकारी देते हुए कहा कि सोन चिरैया अभयारण्य में रहने वाले ग्रामीणों का रास्ता अब साफ हो गया है ।नेशनल वाइल्ड  लाइफ विभाग ने एनओसी जारी कर दी है और जल्द ही प्रदेश सरकार से भी अनुमति मिल जायेगी और ग्रामीण अपनी जमीन को लेकर निर्णय लेने में आजाद होंगे । उन्होंने बताया कि  ग्वालियर के हुरावली के सैन्य क्षेत्र में जो सड़क बनना थी उसके लिये रक्षा मंत्रालय की स्वीकृति मिल गई अब जल्द सड़क निर्माण नगर निगम करेगा।