चर्चा में कमलनाथ के यह मंत्री, समस्या सुनने पहुंच रहे जनता के द्वार

minister-pradyuman-singh-tomar-reaching-to-government-photos-viral-on-social-media

ग्वालियर। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने सभी मंत्रियों को जनता के बीच रहने के निर्देश दिए थे। कितनों पर इसका असर हुआ मीडिया रिपोर्ट्स से पता चलता है लेकिन कैबिनेट मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर इसका प्रमाण हैं। वे जब ग्वालियर होते हैं तब जनता के बीच होते हैं। पानी बिजली जैसी समस्या के चलते वे आधी रात को भी जनता के घर पहुँच जाते हैं। उनकी तारीफ वाली एक पोस्ट इस समय सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है ।

खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर सिंधिया गुट से आते हैं और जमीनी नेता हैं। उनकी लोकप्रियता धरना प्रदर्शन वाले मंत्री की ही रही है। प्रदेश में पिछले 15 साल के भाजपा शासनकाल में सैंकड़ो बार ऐसे मौके आये होंगे जब प्रद्युम्न सिंह धरने प्रदर्शन पर बैठे होंगे। वो चाहें सीवर समस्या हो, बिजली समस्या हो, पानी की समस्या हो, सड़क समस्या हो या अन्य कोई। प्रद्युम्न सिंह तोमर जब विधायक थे और जब नहीं भी थे लगातार जनता के बीच रहे। कई बार तो वो चेम्बर के गंदे पानी में बैठकर भी प्रदर्शन कर चुके हैं। कई बार हालात ये भी बने जब वे विधायक नहीं थे और जनता का हालचाल जानने निकले तो किसी ने समस्या बताई तो वहीँ तत्काल सड़क पर या पटिया पर ही धरने पर बैठ गए और तब तक नहीं उठे जबतक समस्या का हल नहीं हुआ। उनके धरने की आदत ऐसी थी कि भाजपा शासनकाल में उन्होंने एक बार तो अपने विधानसभा क्षेत्र ग्वालियर विधानसभा की पानी बिजली की समस्या के लिए नगरनिगम मुख्यालय में ही डेरा डाल दिया था। लोग इसलिए उन्हें धरना प्रदर्शन वाले नेताजी भी कहने लगे थे। हालांकि विपक्ष इसे उनकी नौटंकी कहता था।

सोशल मीडिया पर फोटो वायरल

अब प्रदेश में कांग्रेस की सरकार है और प्रद्युम्न सिंह तोमर खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री हैं लेकिन वे अभी भी एक विधायक की तरह ही व्यवहार करते हैं। पिछले कुछ समय से ग्वालियर में पीले गंदे पानी और बिजली की समस्या है। विपक्ष लगातार हमला कर रहा है लेकिन मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर जनता के बीच पहुँच जाते हैं, पिछले दिनों वे कई बार आधी रात को पानी और बिजली की समस्या जानने के लिए जनता के घर पहुँच गए। कई बार उन्हें लोगों के गुस्से का शिकार भी होना पड़ा लेकिन उन्होंने जनता के बीच जाना नहीं छोड़ा। बीते रोज भी वे अपने क्षेत्र की जनता के साथ पानी की समस्या को लेकर भरी दोपहर में सड़क पर बैठ गए थे। उनकी इसी सक्रियता के चर्चे इस समय सोशल मीडिया पर हो रहे हैं। इस समय एक पोस्ट मंत्री तोमर की वायरल हो रही है जिसमें वे इक घर के दरवाजे पर जमीन पर बैठे है। पोस्ट विथ कमलनाथ पेज पर जारी हुई है। जिसमें लिखा है यह कोई और नहीं कमलनाथ सरकार में खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर हैं जो जनता के घर के बाहर बैठकर जनता की समस्या सुनते हैं। पोस्ट के आखिर में सादगी को सलाम लिखा है। हालाँकि ये पेज मुख्यमंत्री कमलनाथ का ऑफिशियल पेज नहीं है लेकिन मंत्री तोमर की इस तारीफ के चर्चे सोशल मीडिया सहित कांग्रेस के व्हाट्स एप ग्रुप में भी हो रहे हैं।

सीएम की नसीहत का दिख रहा असर 

बहरहाल मंत्री तोमर जनता के बीच जाकर जनता की समस्या पूछ रहे हैं ऐसा कर वे कोई अनोखा काम नहीं कर रहे ये उनका कर्तव्य ह�� क्योंकि मतदाता ने उन्हें इसी विश्वास के साथ चुना है। लेकिन अगर सभी मंत्री और विपक्ष में बैठे नेता इसी तरह प्रेरित होकर सीधे जनता के पास जाएँ तो सभी समस्याओं का हल निकल सकता है और गन्दी और ओछी राजनीतिक बयानबाजी पर विराम लग सकता है। वहीं सीएम के सख्त निर्देशों का असर भी अब मंत्रियों पर नजर आ रहा है, क्यूंकि परफॉर्मेंस वाले नेताजी ही मंत्री की की कुर्सी पर रहेंगे, आने वाले दिनों में कई मंत्रियों की छुट्टी होना भी तय माना जा रहा है, इसलिए भी कई मंत्रियों ने अपनी जमीन पर पकड़ बनाना शुरू कर दिया है, ताकि सरकार और खुदकी किरकिरी न हो|

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here